पीएटी में चयनित हुए टेकापार के मनीष सिरसाम3166614

पीएटी में चयनित हुए टेकापार के मनीष सिरसाम

फोटो - मनीष के नाम से

तामिया। चावलपानी के पास टेकापार ग्राम के किसान का बेटा मनीष सिरसाम प्री एग्रीकल्चर टेस्ट में सफल होने के बाद वारासिवनी के कृषि महाविधालय में पढ़ कर कृषि वैज्ञानिक बनेगा। आदिवासी बहुल विकासखण्ड तामिया के ग्राम पंचायत जमुनिया के टेकापार निवासी मनीष पिता बिधभान सिरसाम पीएटी प्री एग्रीकल्चर टेस्ट के लिए चयनित हुए हैं। किसान परिवार के मनीष के चयन से माता-पिता और ग्रामवासियों में हर्ष का माहौल है। पीएटी का रिजल्ट देरी से आने के कारण तामिया कॉलेज में मनीष बीए प्रथम वर्ष में प्रवेश ले चुके थे उन्हें काउंसलिंग के बाद वारासिवनी जिला बालाघाट कृषि महाविद्यालय में प्रवेश मिल गया है। पीएटी में चयनित मनीष सिरसाम को सभी ग्रामवासियो तथा शासकीय महाविद्यालय तामिया के स्टाफ ने बधाई देकर उज्जव्ल भविष्य की कामना की है।

झिरपा बैंक मे अव्यवस्था से परेशान हितग्राही

फोटो -28

झिरपा में हितग्राही हो रहे परेशान

तामिया। झिरपा की बैंक में नई पासबुक बनवाने हितग्राही झिरपा ग्रामीण बैंक के चक्कर काट रहे हैं। मुख्यमंत्री सहायता योजना के लिए झिरपा ग्रामीण बैंक में खुलवाने के 6 माह बाद भी बैंक का प्रिंटर खराब होने से पासबुक नहीं बन पा रही है। वहीं बैंक के बाजू में खुलवा दिया ग्राहक सेवा केंद्र से ही लेन-देन करने के लिए कहा जाता है। झिरपा बैंक से नगद भुगतान नहीं हो रहे हैं। चावलपानी झिरपा के आमजन ग्रामीण बैंकिंग कामकाज में अव्यवस्था के कारण हलाकान हो गए हैं। मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक शाखा झिरपा में हितग्राहियों को जबरन परेशान करने का मामला सामने आया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार झिरपा निवासी अंकित पाल पिता राजेन्द्र पाल मुख्यमंत्री सहायता योजना अंतर्गत लाभ लेने हेतु झिरपा ग्रामीण बैंक में नया खाता खुलबाया था। नया खाता तो खोल दिया जा रहा है लेकिन पासबुक बना कर किसी को नहीं दिया जा रहा है। झिरपा निवासी हितग्राही अंकित पाल पिता राजेन्द्र पाल पिछले छ माह से ग्रामीण बैंक में खाता खुलबाने पासबुक के लिए भटक रहे हैं। जैसे जैसे खाता तो खुल गया परंतु अब पासबुक बनवाने हितग्राही बैंक के चक्कर लगा रहा है।

उपभोक्ता ने दिया विद्युत भार बढ़ाने आवेदन अधिकारी ने लेने से किया इंकार

बाद में विद्युत कंपनी के उड़न दस्ता ने प्रकरण बनाकर दिया जुर्माना

तामिया। भार बढ़ाने का आवेदन देने के बाद भी कार्रवाई नहीं कर विद्युत कंपनी द्वारा जुर्माना किए जाने से विद्युत उपभोक्ता ने जबलपुर मुख्यालय में शिकायत भेजी है। तामिया के नमन 3 डी अलायमेंट, गुलमोहर कॉलोनी तामिया में 3 फेज का विद्युत मीटर स्थापित करते समय मशीने नहीं होने के कारण मीटर की भार क्षमता 7460 वॉट का कनेक्शन लिया गया था। वहीं 19 अप्रैल को मीटर जल जाने के बाद विद्युत कंपनी के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि आपके वर्कशॉप में विद्युत भार अधिक होने के कारण मीटर जल गया। निर्धारित शुल्क देकर तत्काल उसी दिन नया मीटर लगवाया गया। उसके बाद 23 अप्रैल को मीटर की भार क्षमता बढ़ाकर 16000 वॉट (16 किलो वॉट) करने हेतु आवेदन एवं संबंधित दस्तावेज पीएस भारती ने कार्यालय सहायक अभियंता, मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी (मप्रपूक्षेविवि कंपनी) तामिया को प्रस्तुत किया गया। वही श्री मुकेश जाधव, सहायक अभियंता द्वारा आवेदन एवं संबंधित दस्तावेज लेने से इनकार कर दिया गया एवं कहा गया कि वर्तमान में हमारे कार्यालय में बड़ा मीटर नहीं है। इस कारण मीटर की भार क्षमता बढ़ाना संभव नहीं है एवं जो वर्तमान में मीटर लगा हुआ है वही काम करेगा। इसके बाद 25 जुलाई को मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विधुत वितरण कम्पनी के उडनदस्ता द्वारा वर्कशॉप की विद्युत भार क्षमता का निरीक्षण किया गया। जिसमें निरीक्षणकर्ता दल द्वारा कुल 13375 वॉट विद्युत भार आंकलित कर 11160 रुपए का जुर्माना कर दिया। उपभोक्ता द्वारा दिनांक 26 जुलाई 2019 को फिर से विद्युत भार बढ़ाने हेतु कार्यालय सहायक अभियंता, म.प्र.पू.क्षे.वि.वि. कंपनी तामिया को पुनः आवेदन एवं दस्तावेज प्रस्तुत किए गये। कंपनी द्वारा 12 सितंबर को ई-मेल के माध्यम से जुर्माना राशि 11160/- रुपए भुगतान किए जाने हेतु नमन थ्री डी अलायमेंट के मालिक को भेजा गया। किन्तु नमन 3 डी अलायमेंट के मालिक द्वारा आशंका जताई जा रही है कि पूर्व में विद्युत भार बढ़ाने हेतु आवेदन लेने से इनकार किया गया एवं बाद में जानबूझकर फ्लाइंग स्कॉट भेजी गई एवं जुर्माना लगाया गया। वर्कशॉप के मालिक द्वारा म.प्र.पू.क्षे.वि.वि. कम्पनी के खिलाफ उपभोक्ता फोरम की शरण में जाकर न्याय की गुहार एवं मानहानि का प्रकरण दायर करने की प्रक्रिया में जुटे है। इस सबंध में सहायक अभियंता मुकेश जाधव ने बताया कि उपभोक्ता श्री नमन थ्रीडी ऐलायमेंट द्वारा बिना भार बढ़ाए ही उच्चतम भार का उपयोग शुरू कर दिया गया था, जबकि कार्यालय से भार वृद्धि हेतु कार्रवाई लंबित थी, जिसके कारण फ्लाइंग स्कॉड द्वारा भार वृद्धि का प्रकरण दर्ज किया गया है, किसी भी उपभोक्ता द्वारा बिना भार की वृद्धि के विद्युत की उच्चतम भार का उपयोग करना नियम विरुद्ध है। वही नमन अलाइमेंट के मयंक सोनी ने बताया कि दिनांक 26/07/2019 के आवेदन में स्पष्ट उल्लेख है कि दिनांक 23.04.2019 को मीटर की भार क्षमता बढ़ाकर 16000 वॉट (16 किलो वॉट) करने हेतु आवेदन एवं संबंधित दस्तावेज कार्यालय सहायक अभियंता, मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी तामिया को प्रस्तुत किया गया। किन्तु कंपनी द्वारा आवेदन नहीं लिया गया

गुलमोहर कालोनी में बंद है स्ट्रीट लाइट

तामिया। पूरे तामिया मे ग्राम पंचायत द्वारा स्ट्रीट लाइट लगाई गई है, मगर फारेस्ट आफिस के आगे सिर्फ गुलमोहर कालोनी रोड को छोड़कर कहीं भी रात्री में रोशनी नजर नहीं आती है। गुलमोहर कालोनी निवासी दिनेश राय ने बताया कि विद्युत कंपनी से पूछने पर बताया गया कि ट्रांसफार्मर के पास से कोई तार जलने से लाइट बंद है। दिनेश राय ने बताया कि ये छोटा सी समस्या के बाद विधुत कंपनी का मरम्मत कब कर व्यवस्था बनायेगा इसको लेकर कोई कुछ नहीं बता रहा है। विद्युत कंपनी ग्राम पंचायत का रवैया भेदभाव वाला बना हुआ है नगर कि दूसरी कालोनियो मे तत्काल व्यवस्था बनाई जाती है मुख्यमार्ग की सडको अर अंधेरा पसरा रहता है।

Read Source