भारत में कोरोना वायरस का तांडव लगातार बढ़ रहा है। देश में हर दिन संक्रमण का आंकड़ा चार लाख के तक आ रहा हैं। कोविड के दूसरे लहर बेहद ही घातक साबित हो रहा है। मरीज ऑक्सीजन की कमी के कारण मर रहे हैं। पिछले साल की तरह इस वर्ष भी सरकार लॉकडाउन का विकल्प अपना रही है। लॉकडाउन के चलते देश को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। प्रवासी मजदूर अपने घर वापस लौटने लगे हैं। वहीं वायरस का कहर ऑटो कंपनियां पर भी पड़ा है।

दरअसल पिछले कुछ समय से बिक्री में संघर्ष कर रहे ऑटो सेक्टर के लिए अप्रैल महीना भी राहत देने वाला नहीं रहा। सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने आज (शनिवार) बताया कि कोरोना वायरस के कारण डिस्पैच प्रभावित हुआ। इस कारण अप्रैल माह में कुल बिक्री चार फीसदी घटकर 1,59,691 यूनिट रह गई है। टाटा मोटर्स ने भी बताया, अप्रैल में कुल घरेलू बिक्री 41 फीसद घटकर 39,530 यूनिट रही।

वहीं ह्युंडई मोटर इंडिया लिमिटेड ने कहा कि अप्रैल में 8 फीसद गिरावट के साथ 59,203 यूनिट वाहन बेचे हैं। जबकि महिंद्र एंड महिंद्र ने कहा, 'उसकी बिक्री 10 फीसद गिर गई।' बता दें पिछले साल भी अप्रैल में देशव्यापी लॉकडाउन होने के कारण वाहन निर्माता कंपनियों का एक भी वाहन नहीं बिका था। मारुति ने बताया कि बीते माह घरेलू बिक्री 1,42,454 इकाई थी, जो मार्च में 1,55,417 इकाइयों की बिक्री से आठ फीसद कम रही। टाटा मोटर्स ने अप्रैल में घरेलू बाजार में 25,095 यूनिट वाहन बेचे हैं। वहीं ह्युंडई की 49,002 यूनिट घरेलू बिक्री रही और 10,201 इकाई का निर्यात हुआ।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags