पुणे: भारत की सबसे बड़ी ईवी टू-व्‍हीलर कंपनी हीरो इलेक्ट्रिक ने आज व्‍हील्‍स ईएमआई प्राइवेट लिमिटेड के साथ अपने गठबंधन की घोषणा की है। यह गठबंधन भारत में इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर्स खरीदने के लिये फाइनेंसिंग के आसान विकल्‍पों प्रदान करने के लिये किया गया है। हीरो इलेक्ट्रिक अभी हर महीने 10,000 से ज्‍यादा टू-व्‍हीलर्स की बिक्री कर रहा है और इसमें से 40% बिक्री भारत के ग्रामीण इलाकों में हो रही है। कंपनी को उम्‍मीद है कि इस भागीदारी से बिक्री बढ़ेगी और वर्ष 2021 के अंत तक यह पिछले साल की तुलना में दोगुनी हो सकती है।

ईंधन के बढ़ते दामों और FAME-2 सब्सिडीज में बदलाव के चलते ऐसे ग्राहकों की संख्‍या में तेजी से वृद्धि हुई है, जो ईवी टू-व्‍हीलर का विकल्‍प अपनाकर ग्रीन रिवॉल्‍यूशन का हिस्‍सा बनना चाहते हैं। उपभोक्‍ताओं के लिये इसे आसान बनाने और खरीदारी का तुरंत फैसला लेने में उनकी मदद करने के लिये अब व्‍हील्‍स ईएमआई द्वारा पेश फाइनेंस विकल्‍पों की एक व्‍यापक श्रृंखला आ गई है। इनकी मदद से उपभोक्‍ता अब एक ब्राण्‍ड न्‍यू हीरो ईवी खरीदकर इलेक्ट्रिक होने का अपना सपना पूरा कर सकते हैं।

यह गठबंधन हीरो इलेक्ट्रिक के ग्राहकों को अतिरिक्‍त फायदे भी देता है, जैसे आकर्षक ब्‍याज दरें, समय-सीमा

के लचीले विकल्‍प और ग्राहक की योग्‍यता के अनुसार किफायती ईएमआई। व्‍हील्‍स ईएमआई एक प्रमुख

वित्‍तीय भागीदार के रूप में हीरो इलेक्ट्रिक के ग्राहकों को न्‍यूनतम दस्‍तावेजों पर आसानी और तेजी से

फाइनेंस देगा।

व्‍हील्‍स ईएमआई अभी 10 राज्‍यों में 42 लोकेशंस और 60 डीलरशिप दुकानों पर हीरो इलेक्ट्रिक के ग्राहकों को ऋण समाधान दे रहा है। व्‍हील्‍स ईएमआई ने उत्‍तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों, जैसे कौशांबी, चंदौली, बस्‍ती, महाराजगंज, आदि में भी वित्‍तीय सहायता का विस्‍तार किया है। व्‍हील्‍स ईएमआई के कुल व्‍यवसाय में

उत्‍तर प्रदेश का योगदान लगभग 60% है।

हीरो इलेक्ट्रिक की इस नई टू-व्‍हीलर रिटेल फाइनेंस भागीदारी के बारे में हीरो इलेक्ट्रिक के सीईओ श्री

सोहिंदर गिल ने कहा, ‘’पिछले कुछ हफ्तों में इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर्स पर जागरूकता और मांग अपने चरम पर

रही है। इसके कारण विभिन्‍न हो सकते हैं, संशोधित FAME- 2 और राज्‍यों की नीतियों से लेकर ईंधन के

दामों में बढ़त तक। आज ज्‍यादा से ज्‍यादा ग्राहक अपने अगले अपग्रेड के तौर पर इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर्स पर

पूछताछ और विचार कर रहे हैं। लचीले फाइनेंस विकल्‍पों की भी मांग है, खासकर ग्रामीण भारत से, ताकि

वहाँ के लोग अपना पसंदीदा टू-व्‍हीलर ले सकें। व्‍हील्‍स ईएमआई इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर फाइनेंसिंग में अग्रणी है

और ग्रामीण परिवारों की ऋण सम्‍बंधी जरूरतों को समझता है। यह भागीदारी स्‍वच्‍छ और उत्‍सर्जन रहित

परिवहन, देश के व्‍यवस्थित बाजारों में पहुँचने और उन्‍हें निजी परिवहन के ज्‍यादा स्‍वच्‍छ तरीके से सशक्‍त

करने के हमारे लक्ष्‍य की दिशा में एक कदम है।‘’

व्‍हील्‍स ईएमआई के को-फाउंडर और जेएमडी श्री करूणाकरन ने कहा, “व्‍हील्‍स ईएमआई टू-व्‍हीलर्स में

विशेषज्ञ है। हम इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर्स तथा ग्रामीण ग्राहकों पर केन्द्रित हैं, साथ ही 2-व्‍हीलर के ग्राहकों को

अन्‍य सेवाएं भी देते हैं। इस भागीदारी से हमें बैंक से वंचित और ग्रामीण, दोनों प्रकार के ग्राहकों की जिन्‍दगी

को सकारात्‍मक रूप से प्रभावित करने का मौका मिलेगा। हम हीरो इलेक्ट्रिक टू-व्‍हीलर्स के लिये फाइनेंस की

पेशकश करेंगे। हीरो इलेक्ट्रिक के साथ मिलकर हम ग्रामीण भारत को हरित बनाने के लिये प्रतिबद्ध हैं।”

Posted By: Arvind Dubey