देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (MSI) अपनी CNG कारों के पोर्टफोलियो में बढ़ोतरी करने वाली है। कंपनी का मानना है कि छोटी कारों के लिए BS-6 मानक वाला डीजल इंजन विकसित करने का कोई इरादा नहीं है। इसका सीधा मतलब यह है कि कंपनी बीएस-6 मानक वाली छोटी डीजल कारें लॉन्च करने के बारे में नहीं सोच रही है। कंपनी का मानना है कि इस तरह की कारें आर्थिंक रूप से व्यावहारिक नहीं हैं।

कंपनी के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर (सेल्स व मार्केटिंग) शशांक श्रीवास्तव ने कहा है कि अब बाजार धीरे-धीरे पेट्रोल मॉडल की ओर स्थानांतरित हो रहा है। इसलिए मारुति द्वारा लांच किए जाने वाले वाहनों की सूची में अभी कोई डीजल मॉडल नहीं है। इसके बदले कंपनी अपने सीएनजी पोर्टफोलियो का विस्तार करने पर विचार कर रही है।

श्रीवास्तव ने कहा, "छोटा डीजल इंजन विकसित करने का कोई तर्क नहीं है। हैचबैक सेग्मेंट में यह पांच प्रतिशत से कम रह गया है। सेडान और एंट्री-स्तर के एसयूवी सेग्मेंट में भी इसमें काफी कमी आई है। आर्थिक रूप से अब यह व्यवहार्य भी नहीं है।

हालांकि श्रीवास्तव के मुताबिक बहुत से उपभोक्ता कार रखने के लिए उसके आर्थिक पहलू पर बहुत ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और वे डीजल कारों की खरीद जारी रख सकते हैं। यदि उस श्रेणी में ज्यादा ग्राहक दिखते हैं तो हम बड़ा बीएस-6 डीजल इंजन विकसित करने पर विचार कर सकते हैं। लेकिन कंपनी ने इसपर कोई फैसला नहीं किया है। हमारा ऐसा मानना है कि डीजल आधारित एसयूवी या सेडान जैसे सेग्मेंट धीरे-धीरे खत्म हो जाएंगे।

सीएनजी पोर्टफोलियो के बारे में श्रीवास्तव ने कहा कि कंपनी ने चालू वित्त वर्ष में 1.50 लाख तक सीएनजी वाहनों की बिक्री का लक्ष्य रखा है। 2019-20 में कंपनी ने 1.07 लाख सीएनजी वाहन बेचे थे। कंपनी ने अगले कुछ वर्षों में ग्रीन टेक्नोलॉजी आधारित 10 लाख कारें बेचने का लक्ष्य रखा है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस