Ola Electric Scooter: ओला (Ola) के को-फाउंडर और CEO भाविश अग्रवाल ने सोमवार को आत्मनिर्भर भारत और महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक बड़ा ऐलान किया है। इन्होंने कहा कि तमिलनाडु स्थित ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर के मैन्युफैक्चरिंग प्लांट का पूरा संचालन सिर्फ महिलाओं के हाथों में होगा। यानी करीब 500 एकड़ में फैली ओला फ्यूचरफैक्ट्री (Ola Futurefactory) की कमान पूरी तरह महिलाओं के हाथों में होगी और इसमें 10,000 से अधिक महिलाओं को रोजगार मिलेगा। इस बारे में भाविश अग्रवाल ने ट्विटर पर लिखा कि आत्मनिर्भर भारत को आत्मनिर्भर महिलाओं की जरूरत है! मुझे यह बताते हुए गर्व महसूस हो रहा है कि ओला फ्यूचरफैक्ट्री का पूरा का पूरा संचालन महिलाएं करेंगी, जिसमें 10,000 से ज्यादा महिलाएं काम करेंगी! यह दुनिया में केवल महिला कर्मियों वाला सबसे बड़ा कारखाना होगा।

भाविश अग्रवाल ने एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें इस प्रतिष्ठान में काम करने के लिए नियुक्त की गई महिलाओं के पहले बैच को दिखाया गया है। उन्होंने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा है कि कंपनी ने इस सप्ताह पहले बैच का स्वागत किया और कहा कि पूरी क्षमता के साथ, फ्यूचर फैक्ट्री 10,000 से अधिक महिलाओं को रोजगार देगी, जिससे यह दुनिया में केवल महिला कर्मियों वाला सबसे बड़ा और विश्व स्तर पर केवल महिला कर्मियों वाला अकेला ऑटोमोटिव मैन्युफैक्चरिंग यूनिट होगा।

उन्होंने कहा कि ओला कंपनी ने महिला कर्मियों को मैन्युफैक्चरिंग स्किल के मुख्य क्षेत्रों में ट्रेनिंग और अतिरिक्त स्किल प्रदान करने के लिए महत्वपूर्ण निवेश किया है तथा वे ओला फ्यूचरफैक्ट्री में निर्मित हर गाड़ियों के पूरे उत्पादन के लिए जिम्मेदार होंगी। ओला ने पिछले साल तमिलनाडु में अपनी पहली इलेक्ट्रिक स्कूटर फैक्ट्री स्थापित करने के लिए 2,400 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की थी।इसकी बुकिंग शुरु हो गई है और अक्टूबर के ग्रहकों को डिलिवरी मिलनी शुरु हो जाएगी।

Posted By: Shailendra Kumar