ठंड अपना असर दिखा रही है। यही वक्त है अपनी बाइक को जांचने का, कि वो इस ठंड को झेलने लायक है या नहीं। इन पाइंट्स की मदद से चेक कीजिए अपनी बाइक की विंटर फिटनेस...

ठंडे मौसम में ऑइल गाढ़ा हो जाता है, इससे इंजन पर दबाव बढ़ता है। इस कारण बैट्री को भी इसे गतिशील बनाने में जोर लगाना होता है। बंद इंजन में बैट्री का रेस्टिंग वोल्टेज 12.6वी होना चाहिए। कनेक्शन्स को टाइट कीजिए और टर्मिनल पर थोड़ा ग्रीस लगाइए।

मौसम का असर टायरों पर होता है। कई तरह का रबर इस मौसम में ठीक से काम नहीं करता है। रबर के ट्रेड की गहराई जरूर चैक करें। हर 10 डिग्री पर टायर प्रेशर में 2पीइसआई का फर्क आता है। इस मौसम में एअर प्रेशर जल्दी-जल्दी चैक करते रहना चाहिए।

यही वक्त है जब जंग से लड़ने वाले प्रोडक्ट्स का उपयोग बाइक पर करना चाहिए। यह आपकी बाइक को विंटर सॉल्ट्स से बचाएगा। क्लिनिंग रूटीन भी सख्ती से फॉलो करें।

विंटर सॉल्ट्स बाइक की चेन को खराब कर देते हैं। इससे बचने के लिए चेन की साफ-सफाई और ल्यूबिंग जरूरी है। लाइट्स के मामले में लापरवाही भारी पड़ती है, इन पर कोई भी जमावट नुकसानदायक है। अगर नई लाइट्स या फॉग लैम्प्स लगवाने का सोच रहे हैं तो सबसे अच्छी क्वालिटी ही अपनाएं।

Posted By:

  • Font Size
  • Close