भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की बैठक खत्म हो चुकी है। यह बैठक पांच अप्रैल को शुरू हुई थी। बैठक के बाद रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर समिति की बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी दी। पिछली बैठक की तरह इस बार भी रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यह चार फीसदी ही रहेगी। रेपो रेट के अलावा रिजर्व रेपो रेट और बैंक रेट में भी कोई बदलाव नहीं किया है।

कोरोना महामारी के चलते देश की अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है और महंगाई भी बढ़ी है। ऐसे में रिजर्व बैंक के फैसलों की अहमियत और भी बढ़ जाती है। बैठक के बाद शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बावजूद इकोनॉमी में सुधार हो रहा है। आने वाला समय अनिश्चित्ताओं से भरा हुआ है, पर भारत हर चुनौती से निपटने के लिए तैयार है।

2021-22 में 10.5 फीसदी रह सकती है GDP ग्रोथ

शक्तिकांत दास ने बताया कि साल 2021-22 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ 10.5 फीसदी रह सकती है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि फरवरी में खुदरा महंगाई दर 5 फीसदी थी, पर यह रिजर्व बैंक केी सुविधाजनक सीमा के अंदर है। इन्हीं वजहों से मौद्रिक नीति में कोई परिवर्तन न करने का फैसला किया गया है।

  • शक्तिकांद दास की प्रेस कॉन्फ्रेंस की अहम बातें

  • आरबीआई ने रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। यह चार फीसदी पर बरकरार है।
  • रिवर्स रेपो रेट भी पहले की तरह 3.35 फीसदी रहेगी।
  • मार्जिनल स्टैंडिंग फसिलिटी रेट भी 4.25 फीसदी रहेगा।
  • बैंक रेट में भी कोई बदलाव नहीं करने का फैसला लिया गया है। यह फिलहाल 4.25 फीसदी पर है।
  • शक्तिकांत दास ने कहा कि कोविड-19 के मामलों में हाल में आई तेजी पर करीब से निगाह रखने की जरूरत है। महामारी के असर के कम होने तक नीतिगत रुख उदार बना रहेगा।
  • आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति ने नीतिगत रुख को 'उदार' बनाए रखा है। इससे आने वाले समय में ब्याज दरों में कमी की गुंजाइश बनी हुई है।

आपको बता दें कि वित्त मंत्रालय ने पहले ही वर्ष 2021 से वर्ष 2026 तक के लिए ब्याज दरों का लक्ष्य चार फीसदी निर्धारित किया है। इससे 2 फीसदी कम या ज्यादा ब्याज में ऋण दिया जा सकता हैं।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags