आज के दौर में बीमा किसी के भी जीवन में फाइनेंस के अनिवार्य पहलुओं में से एक है क्योंकि यह जरूरत या इमरजेंसी के समय फाइनेंशियल हेल्‍प कर सकता है, साथ ही टैक्‍स बेनेफिट भी देता है। इस वजह से बीमा अधिक से अधिक लोगों को अपने परिवारों की सुरक्षा के लिए प्रोत्साहित करता है। हम बजट विश लिस्‍ट में निश्चित रूप से बीमा पर टैक्‍सेशन पर पहले से ज्‍यादा लाभ देखना चाहेंगे, क्योंकि इस पर टैक्‍स बेनलेफिट मिलने से एक बड़ी आबादी के लिए खुद का और अपने परिवार का बीमा करने के लिए एक अतिरिक्त प्रोत्साहन मिलेगा। ओवरआल बजट पर, यह फेवरेबल यानी अनुकूल होगा, अगर सरकार निवेश को बढ़ावा देना जारी रखे। ईज ऑफ डूइंग में और सुधार करे और साथ ही पूंजी निर्माण को आसान बनाए। सरकार की यह पहल, लंबे समय में ग्राहकों को बेहतर विकल्प देगा और इंडस्‍ट्री की पहुंच बढ़ाएगा। साथ ही पेनिट्रेशन गैप को कम करने में मददगार होगा।"

भार्गव दासगुप्‍ता, MD & CEO, ICICI Lombard GIC Ltd.

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close