Prices of Pulses and Sugar: दलहन में दाल मिलों की मांग फिलहाल कम रही। मिलों के पास जमा पुराना तैयार माल तो निकल चुका है, लेकिन नई मांग रुकी है। इससे दलहन के भाव दबाव में आ गए। मंडिया बंद होने के चलते इंदौर में आपसी कारोबार में चना 4100, मसूर 5250-5275, मूंग नया 7000, उड़द 6800-7000, तुअर निमाड़ी 4500-4900, महाराष्ट्र 5400-5500, बटली 3600-3650, सरसों निमाड़ी 3875-3900 रुपये रहे। वहीं शकर की मांग घटने के कारण मई में केंद्र सरकार की ओर से कम कोटा दिए जाने के बावजूद शकर मिलों के पास स्टॉक बढ़ता जा रहा है।

लॉकडाउन को देखते हुए केंद्र सरकार ने मई के लिए 17 लाख टन शकर बिक्री का कोटा दिया था। अप्रैल की ही तरह इस माह भी लेवाली नहीं बन पाने से मिलों के पास भारी मात्रा में माल जमा हो गया है। महाराष्ट्र की शकर मिलें 3,100 रुपये (न्यूनतम बिक्री मूल्य) पर 28 तारीख तक माल उठाने की शर्त पर भी टेंडर मंजूर कर रही हैं। मिलों ने पिछले हफ्ते भी माल बेचने की काफी कोशिश की थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण सामान्य घरेलू मांग के अलावा माल नहीं बिकने से स्टॉक बढ़ता जा रहा है।

शकर मिलों ने मई के पहले सप्ताह में अप्रैल के बचे हुए कोटे की बिक्री के लिए भी सरकार पर दबाव बनाया था, लेकिन अनुमति नहीं मिली थी। ऐसे में शकर मिलें लॉकडाउन 4.0 में कुछ राहत मिलने से अगले 10 दिन तक एक ही भाव पर बिक्री की कोशिश कर रही हैं। इस हफ्ते यदि शकर मिलें अच्छी-खासी मात्रा में माल नहीं बेच पाती हैं तो महीने के आखिरी दिनों में बिल की रकम पर डिस्काउंट के साथ बिकवाली की कोशिश की जा सकती है।

चना-मसूर की खरीदी के लिए 1,250 करोड़ रुपए

केंद्र सरकार लॉकडाउन के दौरान न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर 13 राज्यों में चना और मसूर की खरीदी के लिए 1,250 करोड़ रुपये देगी। यह फैसला ऐसे समय किया गया है जब उत्पादक राज्यों में मंडियां बंद होने से उपज कम भाव पर बिकने की शिकायतें आ रही हैं।

मध्य प्रदेश एमएसपी पर चना और मसूर के कुल उत्पादन का 25 फीसदी तक खरीद सकते हैं। शुरुआती तौर पर 1.71 लाख टन चना और 0.87 लाख टन मसूर की खरीद के लिए सरकार ने 1,250 करोड़ रुपये जारी किए हैं। चने का एमएसपी 4,875 रुपये प्रति क्विंटल और मसूर का 4,800 रुपये प्रति क्विंटल है।

मध्य प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र में चने की आवक जारी है। मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में मसूर की भी आवक शुरू हो गई है। चने के भाव एमएसपी से नीचे हैं, जबकि मसूर के भाव एमएसपी से ऊपर बने हुए हैं। फसल कम उतरने से मसूर में शुरू से ही मांग का दबाव बना हुआ है। मध्य प्रदेश में गर्मी के नए मूंग के भाव 7,000 रुपये के स्तर पर आ चुके हैं। एक पखवाड़े में इसकी कीमतों में 2,000 रुपये तक घट चुके है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना