कोलकाता। वाणिज्य सचिव अनूप वधावन ने बाहरी और आंतरिक चुनौतियों के बावजूद चालू वित्त वर्ष में निर्यात वृद्धि दर 10 फीसद से ऊपर जाने की उम्मीद जताई है। उन्होंने बुधवार को कहा कि पिछले वित्त वर्ष में निर्यात की वृृद्घि दर दहाई अंकों के नीचे रही थी। उस दौरान 331 अरब डॉलर का रिकॉर्ड निर्यात हुआ था।

वधावन ने कहा कि पिछले तीन साल में देश ने लगातार वृद्घि को देखा है। चालू वित्त वर्ष में हमें निर्यात वृद्घि दर के दहाई अंक में पहुंचने की उम्मीद है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के अनुमान के अनुसार, वैश्विक मंदी लगभग दिखाई दे रही है। इस तथ्य को संशोधित विदेश व्यापार नीति में भी रेखांकित किया जाएगा।

वधावन का मानना है कि चालू वित्त वर्ष के शुरुआती कुछ महीनों में निर्यात और आयात दोनों प्रभावित हुए। हालांकि निर्यात वृद्घि किसी तरह पूर्व के स्तर पर बनी रही, लेकिन आयात में गिरावट आई है। इससे व्यापार घाटे में सुधार हुआ है।