29 मार्च 2022 को भोपाल और हैदराबाद से एक नए व्यापारिक उड़ान मार्ग की शुरुआत होना फ्लाईबिग के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण था, जो यात्रा के प्रति उत्साही लोगों के बीच एक चर्चा का विषय बन गया है। शाम 7 बजकर 50 मिनट पर झीलों का शहर कहे जाने वाले शहर भोपाल से मोतियों के शहर, हैदराबाद तक जाने वाली व्यापारिक उड़ान के उद्घाटन के दौरान बीसीएएस में सुरक्षा के क्षेत्रीय उपायुक्त श्री बिक्रम, डीजीसीए में उप निदेशक श्री महेंद्र प्रताप, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण और राजा भोज हवाई अड्डे में हवाई अड्डा निदेशक श्री केएल अग्रवाल, और मुख्य हवाई अड्डा सुरक्षा अधिकारी – सीआईएसएफ श्री मानसिंह के साथ फ्लाईबिग के ग्राउंड ऑपरेशंस और सीएसओ के वरिष्ठ निदेशक श्री राजीव शर्मा भी मौजूद थे।

कार्यक्रम में मौजूद सभी अधिकारियों ने फ्लाईबिग को अपने व्यापारिक उड़ान के उद्घाटन पर बधाई दी। भोपाल के भोज हवाईअड्डे के हवाई अड्डा निदेशक श्री केएल अग्रवाल ने कहा कि भोपाल से हैदराबाद तक फ्लाईबिग की नियमित व्यापारिक उड़ानें मध्य और दक्षिण भारत के इन दो व्यापारिक और सांस्कृतिक केन्द्रों के लोगों के बीच विचारों के नए संमिलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी। मिहिर भोज अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे और हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर फ्लाईबिग के काउंटरों को भोपाल से हैदराबाद के बीच फ्लाईबिग की व्यापारिक उड़ान की घोषणाओं वाली तख्तियों और बैनरों से सुसज्जित किया गया था।

फ्लाईबिग की उद्घाटन उड़ान ने उस पर सवार यात्रियों को विशेष क्षण दिए। श्री प्रेमनाथ, जिन्हें बडी बोर्डिंग पास दिया गया था, वहतब बेहद उत्साहित दिखें जब उन्हें फ्लाईबिग टीम और हवाईअड्डा प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा बडी बोर्डिंग पास की बड़ी स्मारिका के साथ फोटो खींचवाने के लिए आमंत्रित किया गया। यह सुश्री सोनाली के लिए भी एक विशेष दिन था क्योंकि उनका स्वागत सुश्री बिबियाना (टर्मिनल हेड - जीएचआईएएल) ने फूलों के गुलदस्ते के साथ किया क्योंकि वो भोपाल के राजा भोज हवाईअड्डे से हैदराबाद के राजीव गांधी हवाई अड्डे पर उद्घाटन उड़ान से उतरने वाली सबसे पहली अतिथि थीं।

कैप्टन संजय मांडविया ने भी एक बयान जारी कर कहा, “अपनी शुरुआत के समय से ही फ्लाईबिग ने रेल के मीलों को हवा के मीलों में परिवर्तित कर देश को किफायती हवाई यात्रा प्रदान करने के लिए अपने मूल व्यापार के दर्शन को स्पष्ट करने पर ध्यान केंद्रित किया है। भारत एक महत्वाकांक्षी देश है जो सभी क्षेत्रों में समान तरह के विकास का अनुभव कर रहा है, हमने अपने देश में आम जनता को हवाई यात्रा का अनुभव करने का अवसर प्रदान करने के लिए उड़ान टिकट की कीमत को कम रखा है; हमारे फ्लाइट टिकट 2999/- से शुरू होते हैं।"

भारतीय विमानन उद्योग फल—फूल रहा है और देश दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा घरेलू बाजार बन गया है, जो टियर-2 और टियर-3 शहरों में भारत के उभरते विमानन बाजार की जरूरतों को पूरा करने के लिए फ्लाईबिग को अनुमति दे रहा है। हैदराबाद में विंग्स इंडिया 2022 के आयोजन में यह उछाल स्पष्ट देखा गया, जहां क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना के तहत फ्लाईबिग को सर्वश्रेष्ठ एयरलाइन ऑपरेटर का नाम दिया गया था। इस कार्यक्रम के दौरान, फ्लाईबिग ने विमानन उद्योग को एक बेहद जरूरी एक गति शक्ति क्षण दिया जब उसने दस ट्विन ओटर सीरीज विमानों की खरीद के लिए कनाडा के डी हैविलैंड के साथ एक आशय पत्र पर हस्ताक्षर किया।

फ्लाईबिग के बारे में

फ्लाईबिग का प्रसार गुरुग्राम आधारित बिग चार्टर प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया जाता है। यह भारत का एक मात्र एयरलाइन है, जो कोविड—19 महामारी के दौरान शुरू हुआ और कैप्टन संजय मांडविया की साहसिक दृष्टि का चित्रण करता है;वह हमेशा भारत के आम लोगों के धैर्य और तप से प्रेरित रहे हैं और उन्हें उड़ान सेवा का एक किफायती माध्यम प्रदान करके कुछ वापस देना चाहते हैं।

यह एयरलाइन भारत के अंदर टियर—2 और टियर—3 शहरों को जोड़ने पर ध्यान केंद्रित करता है। अपने संक्षिप्त कार्यात्मक इतिहास में फ्लाईबिग ने उत्तर पूर्व, दक्षिण और मध्य भारत में उड़ान मार्गों की स्थापना की है।

अब यह 7 राज्यों के 12 शहरों में संचालन करता है जिसमें मध्य प्रदेश में इंदौर और भोपाल, महाराष्ट्र में गोंडिया, तेलंगाना में हैदराबाद, पश्चिम बंगाल में कोलकाता, असम में डिब्रूगढ़, गुवाहाटी, लीलाबड़ी, रूपसी, त्रिपुरा में अगरतला और साथ ही साथ अरुणाचल प्रदेश में पासीघाट और तेजु शामिल है।

फ्लाईबिग के सीएमडीकैप्टन संजय मांडविया के बारे में

कैप्टन संजय मंडाविया पायलट और उद्यमी के रूप में दो दशकों से अधिक के अनुभव के साथ एक जानकार व्यावसायिक लीडर और विमानन विशेषज्ञ हैं। उनके पास नए विचारों के साथ हमेशा सामने आने की क्षमता है, जो भारतीय विमानन उद्योग के लिए उनकी प्रतिबद्धता और दूरदर्शिता को प्रदर्शित करता है।

जनवरी 2021 में कैप्टन संजय मंडाविया द्वारा फ्लाईबिग की शुरुआत, कोविड-19 के बीच, भारत के भीतरी इलाकों में रहने वाले आम जनता के लिए हवाई संपर्क और पहुंच के लिए ढांचागत नींव रखना निश्चित करता है, और भारत सरकार की घोषित उड़ान योजना के लक्ष्य के अनुरूप है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close