नई दिल्ली। बचत को लेकर पुरुषों के मुकाबले महिलाएं ज्यादा सतर्क होती हैं। ऑनलाइन फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी स्क्रिपबॉक्स की तरफ से कराए गए एक सर्वे के मुताबिक करीब 58 प्रतिशत महिलाएं अपना पैसा फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) या पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ) में जमा करना चाहती हैं या फिर बचत की रकम सेविंग्स अकाउंट में पड़े रहने देना चाहती हैं।

सर्वे में शामिल 6 प्रतिशत प्रतिभागियों की राय में सोना खरीदना अच्छा होता है, जबकि 15 प्रतिशत महिलाएं अपनी बचत की रकम म्यूचुअल फंड में लगाना बेहतर समझती हैं। यह सर्वे फेसबुक यूजर्स के बीच इस साल अक्टूबर के पहले दो हफ्तों में किया गया। इसमें 400 महिलाओं ने हिस्सा लिया। इसमें से 54 प्रतिशत 80 और 90 के दशक में जन्म लेने वाली महिलाएं हैं।

बचत को अहमियत

सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक 80 और 90 के दशक के बीच जन्म लेने वाली (मिलेनियल्स) महिलाओं में तीन चौथाई बचत का समर्थन करती हैं। इनमें से करीब 16 प्रतिशत (हर 6 में से एक) छुट्टियों के लिए पैसा जमा करने का लक्ष्य लेकर चलती हैं। इसके उलट जो मिलेनियल्स आयु वर्ग की नहीं हैं, उनमें से करीब आधी रिटायरमेंट फंड या बच्चों की शिक्षा के लिए रकम जमा करने जैसे लक्ष्य को लेकर निवेश करती हैं। हालांकि, इस आयु वर्ग की महिलाओं के लिए भी (33 प्रतिशत) पीपीएफ, एलआईसी़इ और एफडी अहम हैं। 26 प्रतिशत प्रतिभागियों का मानना है कि म्यूचुअल फंड लंबी अवधि के वित्तीय लक्ष्य पूरा करने में मदद कर सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक करीब 44 प्रतिशत महिलाओं ने कहा कि जब वे अपनी मेहनत की कमाई से बचत करती हैं या निवेश करती हैं तो उनके लिए पैसों तक आसान पहुंच अहम है।

इमरजेंसी फंड को प्राथमिकता

महिलाएं इमरजेंसी के लिए पूंजी जमा करने को ऊंची प्राथमिकता देती हैं। करीब 36 प्रतिशत महिलाओं ने अचानक जोखिम से बचाव के लिए बचत करने को प्रमुखता दी। इसके अलावा बच्चों की शिक्षा के लिए पैसा अलग रखना (28 प्रतिशत) और रिटायरमेंट फंड बनाना (26 प्रतिशत) भी उनके लिए महत्वपूर्ण है। सर्वे में शामिल करीब 25 प्रतिशत महिलाओं ने कहा कि उनके जेहन में कोई वित्तीय लक्ष्य नहीं है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket