RBI Monetary Policy: रिजर्व बैंक के अध्यक्ष शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में हुई मौद्रिक नीति की समीक्षा बैठक (RBI Monetary Policy) का शुक्रवार को तीसरा दिन रहा। इसके बाद शक्तिकांत दास प्रेस कॉन्फ्रेंस कर वो ऐलान किया, जिसका सभी को आशंका थी। रिजर्व बैंक ने रेपो रेट दर 0.50 फीसदी बढ़ाने का ऐलान किया है। अब यह दर बढ़कर 5.40 फीसदी से 5.90 फीसदी हो गई है। इसका सीधा असर लोन पर लगने वाली ब्याज दर पर पड़ेगा। होम लोन समेत सभी तरह के लोन महंगे हो जाएंगे। दिवाली से पहले आम आदमी के लिए यह बुरी खबर है।

What is Repo Rate?

रेपो दर, वह ब्याज दर है, जिस पर आरबीआई बैंकों को अल्पकालिक धन उधार देता है। रेपो रेट फिर से बढ़ाने के RBI के फैसले से सभी बैंक कर्ज पर ब्याज दरें बढ़ाएंगे। इसलिए होम लोन और ऑटो लोन के महंगे होने की आशंका है।

आरबीआई गवर्नर के ऐलान से पहले जानकारों ने 35 से 50 बेसिस पॉइंट के बीच कहीं भी ब्याज दरों में वृद्धि का अनुमान लगाया था। इस बढ़ोतरी से पहले हाल के महीनों में रिजर्व बैंक ने ब्याज दरें बढ़ाने से गुरेज नहीं किया है। इसी साल मई से लेकर अब तक आरबीआई ने ब्याज दरों में 140 आधार अंकों की बढ़ोतरी की है। मई में 40 बेसिस पॉइंट्स तो जून और अगस्त में क्रमश: 50-50 बेसिस पॉइंट की बढ़ोतरी की जा चुकी है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close