मुंबई। देश की सबसे दौलतमंद हस्ती मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज शुक्रवार को 9 लाख करोड़ रुपए के बाजार पूंजीकरण (मार्केट वैल्यू) वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई। वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही के नतीजे आने से पहले कंपनी के शेयर में शानदार तेजी देखी गई।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेडिंग के दौरान रिलायंस इडस्ट्रीज का शेयर करीब 2 प्रतिशत चढ़कर 1,422 रुपए पर पहुंच गया। इसके साथ ही कंपनी का बाजार पूंजीकरण 9 लाख करोड़ रुपए से ऊपर निकल गया। भारतीय शेयर बाजार में लिस्टेड किसी भी कंपनी का बाजार पूंजीकरण अब तक 9 लाख करोड़ रुपए तक नहीं पहुंचा है। हालांकि बाजार बंद होने तक रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 1,415.30 रुपए पर रहा, जिसमें 19.15 रुपए यानी 1.37 प्रतिशत तेजी दर्ज की गई। इस हिसाब से कंपनी का बाजार पूंजीकरण 8,97,179.47 करोड़ रुपए रह गई।

रिलायंस इंडस्ट्रीज

  • शेयर का बंद स्तरः 1,415.30 रुपए
  • तेजीः 19.15 रुपए (1.37%)
  • बाजार पूंजीकरणः 8,97,179.47 करोड़

टीसीएस

  • शेयर का बंद स्तरः 2,057.35 रुपए
  • तेजीः 26.65 रुपए (1.31%)
  • बाजार पूंजीकरणः 7,71,996.87 करोड़

रिलायंस इंडस्ट्रीज का मुनाफा 18% बढ़कर 11,262 करोड़

वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज नतीजे बाजार के अनुमान से बेहतर रहे। 30 सितंबर को खत्म तिमाही में सालाना आधार पर कंपनी का मुनाफा 18.3 फीसदी बढ़कर 11,262 करोड़ रुपए हो गया। एक साल पहले की समान अवधि में रिलायंस इंडस्ट्रीज का मुनाफा 9,516 करोड़ रुपए रहा था।

तिमाही आधार पर घटी आय

तिमाही दर तिमाही आधार पर रिलायंस इंडस्ट्रीज की आय 5.3 फीसदी घटी है। जून तिमाही में कंपनी को 1,72,956 करोड़ रुपए की आय हुई थी।

Posted By: Nai Dunia News Network