नई दिल्ली। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) क्रेडिट कार्ड कारोबार करने वाले अपने संयुक्त उद्यम एसबीआई कार्ड्‌स एंड पेमेंट्स सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के प्रथम सार्वजनिक शेयर निर्गम के जरिए उसमें अपनी हिस्सेदारी कम करेगा। बैंक ने बुधवार को यह जानकारी दी। स्टेट बैंक की अपनी इस अनुषंगी में फिलहाल 74 फीसदी हिस्सेदारी है। 26 प्रतिशत हिस्सेदारी कारलाइल समूह के पास है। स्टेट बैंक ने अक्टूबर 1998 में एसबीआई कार्ड की शुरुआत की थी। बैंक ने शेयर बाजारों को सूचित किया है कि उसके केंद्रीय बोर्ड की कार्यकारी समिति ने एसबीआई कार्ड्‌स एंड पेमेंट्स में एसबीआई की हिस्सेदारी घटाने की संभावना तलाशने की सैद्घांतिक मंजूरी दी है। यह प्रक्रिया आईपीओ के जरिए होगी।