लंदन। हांगकांग शेयर बाजार ने लंदन शेयर बाजार को खरीदने के लिए करीब 32 अरब पाउंड की बोली लगाई है। इस बोली में 40 अरब डॉलर यानी 36 अरब यूरो का ऋण भी शामिल है। इस सौदे के बाद दुनिया के एशिया और यूरोप स्थित दो सबसे बड़े वित्तीय केंद्र एक साथ आ जायेंगे।

हालांकि, यह सौदा इस बात पर निर्भर करेगा कि लंदन शेयर बाजार वित्तीय आंकड़े मुहैया कराने वाली अमेरिकी कंपनी रीफिनिटिव के 27 अरब डॉलर के अधिग्रहण प्रस्ताव को रद्द कर दे। लंदन शेयर बाजार ने इस बारे में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह हांगकांग शेयर बाजार के प्रस्ताव पर विचार करेगा।

हालांकि, उसने कहा कि वह रीफिनिटिव को खरीदने के लिए प्रतिबद्घ है। हैरान करने वाली इस खबर से लंदन शेयर बाजार का शेयर 10 प्रतिशत तक चढ़ गया। बाद में यह कुछ नरम हुआ और 4.50 प्रतिशत की तेजी के साथ 71 पाउंड पर रहा। हांगकांग शेयर बाजार की पेशकश प्रति शेयर 83 पाउंड से अधिक की है।

हांगकांग एक्सचेंजेज एंड क्लियरिंग लिमिटेड ने एक बयान में कहा, 'हांगकांग एक्सचेंजेज एंड क्लियरिंग लिमिटेड ने दोनों कंपनियों को एक साथ लाने के लिए लंदन शेयर बाजार के निदेशक मंडल के समक्ष एक प्रस्ताव पेश करने की बुधवार को घोषणा की।

हांगकांग एक्सचेंजेज एंड क्लियरिंग लिमिटेड ने कहा कि इस सौदे से एक ऐसा संयुक्त समूह तैयार होगा जो बदलती वैश्विक वृहद आर्थिक परिदृश्य का लाभ उठाने की स्थिति में होगा तथा पश्चिम के स्थापित वित्तीय बाजार को पूर्व के विशेषकर चीन के उभरते वित्तीय बाजार से जोड़ने में मददगार होगा।