लॉकडाउन के दौरान देश में अन्य चीजों को छोड़कर लोगों ने Gold में खूब निवेश किया। पिछले कुछ महीनों में सोने में बढ़ते निवेश के कारण इसकी कीमतें Gold Price बढ़ी है। लोग लगातार सोने में पैसा लगाकर अपना भविष्य सुरक्षित करने में लगे हैं वहीं कई लोग हैं जो Bank FD को अब भी सुरक्षित मानते हैं। हालांकि, पिछले कुछ समय में Bank FD की ब्याज दरों में कटौती हुई है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पिछले कुछ सालों में Gold, Silver, PPF और Bank FD से भी ज्यादा एक दूसरी चीज ने धमाकेदार रिटर्न दिया है।

यह चीज है Equity जिसने पिछले 40 साल में रिटर्न के मामले में सोना, चांदी, पीपीएफ और एफडी को पीछे छोड़ते हुए सबसे ज्यादा का रिटर्न दिया है। आंकड़ों के मुताबिक, 1981 से 2020 के दौरान बीएसई के सेंसेक्स ने 13.71 फीसद की दर से औसत सालाना रिटर्न दिया है। हालांकि, इक्विटी यानी शेयर बाजार में निवेश को आमतौर पर बहुत अस्थिर माना जाता है। यही कारण है कि निवेश के अन्य विकल्पों की तुलना में इससे अपेक्षाकृत बहुत कम लोग जुड़े हैं।

पिछले कुछ वर्षों में म्यूचुअल फंड के रास्ते जरूर लोगों की उपस्थिति बढ़ी है। आंकड़े बताते हैं कि चार दशक में महंगाई का औसत 6.52 फीसद रहा है। इस दौरान सोने ने 8.48 फीसद, चांदी ने 6.92 फीसद, बैंक एफडी ने 8.62 फीसद और पीपीएफ ने 9.41 फीसद का रिटर्न दिया है। ये सभी रिटर्न इक्विटी की तुलना में काफी कम हैं। एलकेपी सिक्युरिटीज के रिसर्च हेड एस रंगनाथन ने कहा कि भारत के इक्विटी बाजार ने आमतौर पर हमेशा अन्य एसेट की तुलना में ज्यादा रिटर्न दिया है।

सोना और चांदी 50 हजार के आसपास

इन दिनों बाजार में सोना और चांदी की कीमतें 50 हजार के करीब चल रही हैं। मंगलवार को सोना जहां 47,001 रुपए पर बंद हुआ वहीं चांदी की कीमत 50 हजार के पार चली गई है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना