मुंबई। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) का शेयर सोमवार को 96 प्रतिशत प्रीमियम के साथ 626 रुपए पर लिस्ट हुआ। इसकी ट्रेडिंग 728.60 रुपए पर बंद हुई। इस हिसाब से निर्गम कीमत 320 रुपए पर इसमें 408.60 रुपए यानी 127.69 प्रतिशत तेजी दर्ज की गई। आंकड़ों के हिसाब से आईआरसीटीसी की लिस्टिंग पिछले 10 साल की दूसरी सबसे बड़ी लिस्टिंग साबित होती है। यह इश्यू 112 गुना भरा था। आईपीओ का इसका रिटेल हिस्सा 14 गुना, क्यूआईबी हिस्सा 109 गुना और एचआईआई हिस्सा 354 गुना सब्सक्राइब हुआ था। आईपीओ के बाद कंपनी में सरकार की हिस्सेदारी 87 प्रतिशत रह गई है।

कंपनी को अन्य व्यवसायों में भी विविधता प्राप्त है, जिसमें गैर-रेलवे खानपान और ई-कैटरिंग, कार्यकारी लाउंज और बजट होटल जैसी सेवाएं शामिल हैं। अगस्त में नियामकों के साथ दायर रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के अनुसार, वित्त वर्ष 2019 में इसकी बिक्री 25 प्रतिशत सालाना की बढ़कर 1,899 करोड़ रुपये हो गई और वित्त वर्ष 2019 में इसका लाभ 23.5 प्रतिशत बढ़कर 272.5 करोड़ रुपये हो गया।

IRCTC RITES, रेल विकास निगम और इरकॉन के बाद बोर्ज़ पर सूचीबद्ध होने वाली चौथी रेलवे कंपनी है। IRCTC को अपने व्यवसाय में एकाधिकार प्राप्त है क्योंकि यह भारतीय रेलवे द्वारा रेलवे, ऑनलाइन रेलवे टिकट और भारत में रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में पैकेज्ड पेयजल उपलब्ध कराने के लिए अधिकृत एकमात्र इकाई है।

आईआरसीटीसी का बिजनेस

- रेलवे में कैटरिंग सर्विस

- ऑनलाइन टिकट बुकिंग

- बोतलबंद पेय जल की बिक्री

- आईआरसीटीसी एशिया-पैसिफिक की सबसे व्यस्त वेबसाइट है

- इसके जरिए हर माह 2.5-2.8 करोड़ टिकटें बेची जाती है।

- प्रति टिकट 10-30 रुपए फीस

यह भी पढ़ें :

यह भी पढ़ें : Jio Native Video Call : जियो लेकर आया दुनिया का पहला नेटिव वीडियो कॉल फीचर, जानिये क्‍या है यह

यह भी पढ़ें : Wholesale inflation : थोक महंगाई सितंबर में घटी, खाने-पीने की चीजों की महंगाई दर बढ़ी

Posted By: Nai Dunia News Network