Business News: पिछले पांच ट्रेडिंग सेशन से शेयर मार्केट में तेजी देखी जा रही है। जिसका कारण विदेश निवेशक है, जो लगातार खरीदारी कर रहे हैं। ये विदेशी निवेशक हैं, जिन्होंने कई महीनों से शेयर में बिकवाली की थी। इन इनवेस्टर्स की खरीदारी के कारण भारतीय बाजार का इंडेक्स सात सप्ताह के उच्चतम स्तर पर बंद हुआ। पिछले पांच दिनों में सेंसेक्स में 4.24 फीसदी यादि 2200 अंकों का उछाल दर्ज हुआ है। वहीं निफ्टी में 550 अंकों की तेजी देखने को मिली है।

निवेशकों की संपत्ति बढ़ी

शेयर मार्केट में रिकवरी के कारण निवेशकों की संपत्ति में शानदार इजाफा हुआ है। 17 जून को बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का बाजार कैपिटलाइजेशन 235 लाख करोड़ था, जो बढ़कर 260 लाख करोड़ हो गया है। एक माह में निवेशकों की प्रॉपर्टी में 25 लाख करोड़ रुपए का उछाल आया है। बीते 5 दिनों में निवेशकों की संपत्ति में दस लाख करोड़ की बढ़ोतरी हुई है।

एक सप्ताह में विदेशी पोर्टफोलियो इंवेस्टर्स लगातार बिकवाली कर रहे थे। जुलाई में उन्हें खरीदारी करते देखा गया। जिसके कारण वैश्विक बाजारों में कामजोरी होने के बावजूद भारतीय बाजार में तेजी है। एमएफएमसीजी, कैपिटल गुड्स, कंज्यूमर, ड्यूरेबल्स, रियल एस्टेट और पावर सेक्टर्स के शेयरों में खरीदारी के चलते तेजी है।

बता दें कमोडिटी के दामों में 20 से 30% की गिरावट आई है। वहीं कच्चे तेल के दामों में भी ऊपरी स्तरों पर नरमी है। जिससे महंगाई से थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। हाल ही में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गर्वनर ने कहा कि मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी छमाही से महंगाई दर में कमी आने लगेगी।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close