Share Market Update। दुनियाभर के शेयर बाजारों में लगातार भारी गिरावट का सिलसिला जारी है। अमेरिकी शेयर बाजारों में 18 मई के कारोबारी दिन भारी गिरावट देखी गई है। बुधवार को इंट्रा डे में नैस्डेक (Nasdaq) और S&P में 4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। वैश्विक बाजार में शेयर बाजारों में लगातार हो रही गिरावट का असर भारत में भी देखा जा रही है। आज बाजार खुलते ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में 1154 अंक की गिरावट देखी गई है।

नामी कंपनियों का मुनाफा घटा

मिली जानकारी है कि टारगेट कॉर्प्स का पहली तिमाही का मुनाफा घटकर आधा हो गया है। ईंधन के दाम बढ़ने और माल ढुलाई का खर्च बढ़ने के कारण मुनाफे पर गहरा आघात लगा है। कंपनी के शेयर 18 मई को 25.2 प्रतिशत गिर गए। अमेरिका में 19 अक्टूबर 1987 के ब्लैक मंडे के बाद शेयर बाजार में 18 मई को सबसे बड़ी गिरावट आई है। इसके अलावा रिटेल कंपनी वॉलमार्ट ने भी कमजोर नतीजे जारी किए थे।

इस कारण से वैश्विक बाजार में गिरावट

बीते कुछ माह से दुनियाभर के शेयर मार्केट में गिरावट दर्ज की जा रही है। रूस-यूक्रेन युद्ध, सप्लाई चेन में बढ़ती दिक्कत और कोरोना संक्रमण के कारण अधिकांश देशों में महंगाई बेकाबू हो गई है। श्रीलंका जैसे छोटे देश तो कंगाली की कगार पर पहुंच गए हैं। दुनियाभर में माल सप्लाई करने वाला चीन एक बार फिर कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन की चपेट में है। इस सभी परिस्थितियों के कारण भी शेयर बाजार में गिरावट दर्ज की जा रही है।

सेंसेक्स में 1154 अंक की गिरावट

वैश्विक बाजारों में बेहद कमजोर रुझान के कारण गुरुवार को सेंसेक्स और निफ्टी में भारी गिरावट आई है। गुरुवार को सेंसेक्स में 1,154.78 अंक की गिरावट दर्ज की गई है। इस दौरान 30 शेयरों वाला सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 1,154.78 अंक की गिरावट के साथ 53,053.75 पर कारोबार कर रहा था। NSE निफ्टी भी 335.65 अंक गिरकर 15,904.65 पर आ गया। सेंसेक्स में टेक महिंद्रा, बजाज फिनसर्व, इंफोसिस, विप्रो, टाटा स्टील, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, बजाज फाइनेंस और भारतीय स्टेट बैंक शुरुआती कारोबार में गिरने वाले प्रमुख शेयरों में शामिल थे।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close