भारत की अग्रणी विविध, प्रौद्योगिकी संचालित वित्तीय सेवा कंपनियों में से एक, शेयर इंडिया सिक्योरिटीज लिमिटेड (एसआईएसएल) ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में अपना अब तक का सबसे अच्छा शुद्ध लाभ दर्ज किया। पूरे वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए कंपनी का पीएटी पिछले वित्तीय वर्ष के 80.75 करोड़ रुपये से 150 प्रतिशत बढ़कर 201.84 करोड़ रुपये हो गया। वित्त वर्ष 2021-22 में कंपनी का कुल समेकित राजस्व पिछले वर्ष के 453.81 करोड़ रुपये से 92 प्रतिशत बढ़कर 871.01 करोड़ रुपये हो गया।

18 भारतीय राज्यों में 850 शाखाओं / फ्रेंचाइजी में फैला और अंतरराष्ट्रीय परिचालन का भी आनंद लेते हुए एसआईएसएल ने जनवरी-मार्च '22 की तिमाही में 52% की छलांग लगा कर अपने समेकित राजस्व को 294.82 करोड़ रुपये किया, जबकि पिछले साल की तुलनीय तिमाही में यह 194.35 करोड़ रुपये था। कंपनी का पीएटी भी पिछले वर्ष की समान तिमाही के 35.82 करोड़ रुपये की तुलना में चौथी तिमाही, 2022 में 112% बढ़कर 76.02 करोड़ रुपये हो गया।

इस अवसर पर बोलते हुए, श्री कमलेश शाह, प्रबंध निदेशक ने कहा, “कंपनी ने तिमाही और पूरे वर्ष के लिए सभी वित्तीय मेट्रिक्स में ~ 100% की वृद्धि के साथ एक और वर्ष अच्छा प्रदर्शन किया है। वित्त वर्ष 22 की चौथी तिमाही में हमारे अस्तित्व के 25 वर्षों में अब तक का सबसे अच्छा वित्तीय प्रदर्शन था और उद्योग में सर्वश्रेष्ठ में से एक था। एसआईएसएल टोटल सिक्योरिटीज और शेयर इंडिया के विलय का परिणाम है। विलय के बाद, हमारे उत्पाद पोर्टफोलियो का विस्तार हुआ और तालमेल के लाभों ने वास्तव में हमें बढ़ने और ग्राहकों को आकर्षित करने में मदद की है। हमने हमेशा प्रौद्योगिकी पर ध्यान केंद्रित किया है और बैक एंड टेक्नोलॉजी पर अपना निरंतर ध्यान केंद्रित किया है, हमने उद्योग से बेहतर प्रदर्शन किया है और बाजार हिस्सेदारी हासिल की है।”

श्री शाह ने आगे कहा, "जैसा कि आप सभी से पहले चर्चा की गई थी, हम इस वित्त वर्ष की तीसरी और चौथी तिमाही में नए और अभिनव उत्पादों के माध्यम से अपनी खुदरा उपस्थिति को मजबूत करने की योजना बना रहे हैं। ये उत्पाद विशेष रूप से एल्गो अनुभाग पर ध्यान केंद्रित करेंगे और आम आदमी को संस्थागत ग्रेड उत्पाद पोर्टफोलियो तक पहुँचने में मदद करेंगे। इन पहलों से हमारी विकास गति को भविष्य में भी जारी रखने में मदद मिलेगी और हमारी राजस्व धारा में भी विविधता आएगी।”

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close