नई दिल्ली। विप्रो की अपने शेयरों को वापस खरीदने की योजना के तहत कंपनी के प्रवर्तकों में अजीम प्रेमजी और प्रवर्तक समूह की अन्य इकाइयों ने 7,300 करोड़ रुपए के 22.46 करोड़ शेयर बेचे हैं। शेयरों को वापस खरीदने की योजना पिछले महीने बंद हो गई।

विप्रो ने बुधवार को शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि शेयर वापस खरीदने के कार्यक्रम के तहत उसने 325 रुपए प्रति शेयर के मूल्य पर 32.3 करोड़ इक्विटी शेयर खरीदे। इस शेयर पुनर्खरीद कार्यक्रम पर कुल 10,499.99 करोड़ रुपए खर्च किए गए।

प्राजिम ट्रडर्स का प्रतिनिधित्व करने वाले अजीम प्रेमजी के भागीदार के 6.03 करोड़ शेयर और अजीम प्रेमजी के भागीदार हाशम ट्रेडर्स से 5.02 करोड़ शेयर खरीदे गए। इसी तरह अजीम प्रेमजी ट्रस्ट से 4.05 करोड़ शेयर ओर अजीम प्रेमजी से 1.22 करोड़ शेयर वापस खरीदे गए।

शेयर बाजार को भेजी सूचना में यह जानकारी दी गई। इसके अलावा शेयर वापस खरीद की इस प्रक्रिया में भारतीय जीवन बीमा निगम ने भी 1.34 करोड़ शेयरों की बिक्री की है। शेयरों की वापस खरीद की प्रक्रिया पूरी होने के बाद कंपनी में प्रवर्तक समूह की कुल हिस्सेदारी 74.05 प्रतिशत रह गई।