Elon Musk in Starlink। दिग्गज उद्योगपति एलन मस्क की भारत में मुसीबत बढ़ गई है. दरअसल केंद्र सरकार ने एक चेतावनी जारी कर कहा है कि Elon Musk की कंपनी Starlink की सैटेलाइट इंटरनेट सर्विस लेने से बचें। सरकार द्वारा इस सब्सक्रिप्शन प्रक्रिया से दूरी बनाने की अपील करने के बाद एलन मस्क के लिए भारत में पैर पसारना मुश्किल हो जाएगा।

स्टारलिंक को अभी भारत में नहीं मिला लाइसेंस

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने साफ किया है कि Elon Musk की कंपनी Starlink को अभी भारत में सैटेलाइट इंटरनेट मुहैया कराने का लाइसेंस मिलना नहीं मिला है। ऐसे में आम लोगों से अपील है कि स्टारलिंक की इंटरनेट सेवा सदस्यता न खरीदें। इससे उन्हें नुकसान भी हो सकता है।

दूरसंचार विभाग ने साफ की स्थिति

दूरसंचार विभाग ने इस बारे में स्थिति साफ करते हुए जानकारी दी है कि Elon Musk के Starlink का भारत में लाइसेंस होना अभी बाकी है। मस्क की कंपनी ने नियामक प्रक्रियाओं की अनदेखी की है। मस्क को स्टारलिंक की इंटरनेट सेवा मुहैया कराने के लिए सरकार से मंजूरी लेनी होगी, तब ही भारत में वैधानिक रूप से कारोबार कर सकेंगे।

5000 ग्राहक कर चुके हैं प्री-बुकिंग

Elon Musk के Starlink ने भारत में हाल ही में इंटरनेट सेवा के लिए प्री-बुकिंग शुरू दी थी। यह जानकारी जब सरकार के सामने आई तो केंद्र सरकार ने लोगों से सब्सक्रिप्शन न खरीदने की अपील की। एलन मस्क की कंपनी स्टारलिंक ने कुछ समय बताया था कि वह भारत में अपनी सेवाएं देने को लेकर उत्सुक है। देश में प्री-बुकिंग की संख्या 5000 को पार कर गई है, लेकिन कंपनी ने यह नहीं बताया कि स्टारलिंक को अभी तक भारत में लाइसेंस नहीं मिला है।

Posted By: Sandeep Chourey