कोरोना वायरस का बीमा कंपनियों पर गहरा असर हुआ है। कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर में इंश्योरेंस कंपनियों को कई क्लेम देने पड़े। ऐसे में उनपर काफी बोझ बढ़ गया। अब आगे इसका बोझ बीमा धारक पर पड़ेगा, क्योंकि कंपनियों ने पॉलिसी के दाम बढ़ा दिए हैं। दरअसल कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रोन तेजी से फैल रहा है। ऐसे में बीमा कंपनियों पर दबाव बढ़ना तय है। इस आर्थिक दबाव को नियंत्रण में लाने के लिए कंपनियों ने 40 फीसद तक दाम बढ़ा दिए हैं।

सभी कंपनियों ने बढ़ाए दाम

सभी निजी कंपनियों ने लाइफ इंश्योरेंस प्रीमियम की दरों में वृद्धि की है। केवल भारतीय जीवन बीमा निगम ने तीन साल से प्रीमियम के दाम नहीं बढ़ाए है। कोविड महामारी में मृत्यु दर और क्लेम रेट में हुई बढ़ोतरी के बाद बीमा कंपनियों मे प्लान मंहगा कर दिया है। कोरोना वायरस के कारण क्लेम की संख्या में हुई बाढ़ को देखते हुए कंपनियों ने पॉलिसी की शर्तों को सख्त कर दिया। हालांकि बीमा कंपनियों का दावा है कि सबसे सस्ते टर्म प्लान भारत में ही हैं।

कितना महंगा हुआ प्लान

सबसे ज्यादा दर बढ़ाने वाली कंपनियों में एचडीएफसी लाइफ, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल, एसबीआई लाइफ और मैक्स लाइफ है। एचडीएफसी का टर्म इंश्योरेंस 2020 में 12,478 रुपए था, जो जनवरी 2022 में 16,207 रुपए हो गया। आईसीआईसीआई का प्रीमियम मार्च 2020 में 12,502 रुपए था। जनवरी 2022 में बढ़कर 17,190 रुपए हो गया है। स्टेट बैंक का प्रीमियम मार्च 2020 में 15,070 रुपए था, जो नए साल में 17,495 रुपए हो गया। मैक्स लाइफ का प्रीमियम पिछले साल 10,148 रुपए था। यह अब 11,858 रुपए हो गया है।

Posted By: Sandeep Chourey