Coronavirus : यदि कोरोना वायरस महामारी का रूप लेता है तो वैश्विक अर्थव्यवस्था मंदी की चपेट में आ सकती है। Moody's analytics मूडीज एनालिटिक्स ने बुधवार को ऐसी आशंका जताई। मूडीज एनालिटिक्स के मुख्य अर्थशास्त्री मार्क जैंडी ने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण अब इटली और कोरिया तक पहुंच गया है। ऐसे में इसके महामारी का रूप लेने की आशंका बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि कोरोना ने चीन की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका दिया है। अब यह पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था के लिए खतरा बन गया है।

दुनियाभर की विमानन कंपनियों ने चीन के लिए उड़ानें रोक दी हैं। अमेरिका जैसे प्रमुख गंतव्यों के लिए भी समस्या खड़ी हो गई है। चीन से हर साल 30 लाख पर्यटक अमेरिका जाते हैं। मूडीज के मुताबिक अमेरिका में विदेशी पर्यटक जो खर्च करते हैं, उस मामले में चीन के पर्यटक सबसे आगे हैं। यूरोप के लिए यात्रा पर भी असर पड़ा है।

चीन में कारखाने बंद होने का दूरगामी असर

मूडीज एनालिटिक्स ने कहा कि बंद कारखाने चीन की मैन्युफैक्चरिंग सप्लाई चेन पर निर्भर देशों और कंपनियों के लिए समस्या हैं। एपल, नाइके और जनरल मोटर्स ऐसी अमेरिकी कंपनियां हैं, जो इससे प्रभावित हैं। जैंडी ने कहा कि चीन में मांग घटने से अमेरिकी निर्यात भी प्रभावित होगा। पिछले साल दोनों देशों के बीच हुए पहले चरण के करार के तहत चीन को अमेरिका से आयात बढ़ाना था। उन्होंने कहा कि पहले से यह सवाल उठ रहा था कि चीन वास्तव में अमेरिका से कितनी खरीद करता है। कोविड-19 के बाद यह सवाल और बड़ा हो गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network