Bank Alert: बैंकिंग सर्विस का इस्तेमाल अब बेहद आसान हो गया है। अब घर बैठें ही ग्राहकों के कई काम पूरे हो जाते हैं। जहां ऑनलाइन सेवाओं से लोगों को सहुलियत मिली है। वहीं साइबर क्राइम के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। क्रिमिनल्स लोगों को ठगने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे हैं। इन तरीकों की जानकारी नहीं होने पर लोग धोखेधड़ी का शिकार हो जाते है। आईसीआईसीआई बैंक ने अपने कस्टमर्स को सावधान किया है। उसने अपने ग्राहकों को एक मेल भेजा है। जिसमें कहा गया कि ठग वॉट्सएप और फेसबुक का इस्तेमाल कर रहे हैं।

आईसीआईसीआई बैंक ने मेल में लिखा कि फ्रॉड करने वाले ग्राहक के फेसबुक और वॉट्सएप अकाउंट में सेंध लगाते हैं। फिर कॉन्टैक्ट्स लिस्ट में शामिल किसी शख्स से पैसे की मांग करते है। ग्राहक को लगता है कि उसका परिचित पैसा मांग रहा है।

बैंक ने कहा कि अपने दोस्त या रिश्तेदार से पैसे मांगना असामान्य नहीं है। इसलिए ग्राहक पैसे के लिए किए गए निवेदन पर यकीन कर लेता है। वह पैसे मांगने वाले से पूछता नहीं है। आईसीआईसीआई बैंक ने कहा, 'सोशल मीडिया पर आने वाले पैसे के रिक्वेस्ट को लेकर विशेष सावधानी बरतें। अगर फेसबुक और वॉट्सएप अकाउंट हैक हो जाता है तो तुरंत साइबर क्राइम ऑफिस में सूचित करें।'

बता दें बैंक आमतौर पर ईमेल और एसएमएस के जरिए ग्राहकों को सतर्क करता है। बैंक की तरफ से किसी भी ग्राहक की प्राइवेट जानकारी नहीं मांगी जाती है। बैंक कभी भी यूजर आईडी, पासवर्ड, पिन और ओटीपी जैसे जानकारियां नहीं मांगते हैं।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close