डोर-टू-डोर Diesel वितरण का भारत में जल्दी ही अच्छा मार्केट बन सकता है क्योंकि तेल वितरण कंपनियां (OMC) मोबाइल पेट्रोल पंपों के माध्यम से ईधन की होम डिलीवरी के लिए स्टार्ट-अप्स को अनुबंधित की योजना बना रही हैं।

बिजनेस स्टैंडर्ड में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन, भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन और हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन जैसे OMCs ने स्टार्ट अप्स से हाई-स्पीड Diesel की होम डिलीवरी के लिए expressions of interest (EoIs) मांगी है।

इस रिपोर्ट में कहा गया कि इस सेक्टर में OMCs के पार्टनर्स के रूप में काम कर रही फर्म्स आधिकारिक पुनर्विक्रेता (FuelEnts) बन जाएंगे। इसको लेकर स्टार्ट अप्स में जबर्दस्त उत्साह देखा जा रहा है।

वर्तमान में डीजल की होम डिलीवरी करने वाले कई प्रमुख खिलाड़ी हैं। उनमें FuelBuddy, Repos Enery, Pepfuels, MyPetrolPumps और Humsafar शामिल हैं। इस रिपोर्ट से जुड़े सूत्रों के अनुसार अगले 12 से 18 महीनों में FuelEnts के रूप में जुड़ने वाले स्टार्ट अप्स की वजह से 2000 करोड़ का राजस्व आएगा। वैसे यह राशि बहुत ज्यादा भी हो सकती है। Indian Oil Corporation ने संभावित स्टार्ट अप्स से 15 जुलाई को EoIs की मांग की है।

Repos Energy के सीईओ चेरन वालुंज ने कहा, उन्हें FuelEnts के रूप में 30 हजार उद्यमियों के रजिस्टर्ड होने की उम्मीद है जिसकी वजह से 9000 करोड़ रुपए का निवेश हो सकता है। Repos Energy को रतन टाटा का सपोर्ट हासिल है।

विशेषज्ञों का मानना है कि इस कदम से भारत में ईंधन वितरण एक प्रमुख बाजार बन सकता है। इसकी वजह से भारत में भविष्य में डीजल की मांग भी बढ़ेगी।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020