Gold Price : इन दिनों सोने की कीमतें उच्‍चतम शिखर पर पहुंच गईं हैं। घरेलू बाजार में सोने के दाम 57 हजार रुपए का आंकड़ा पार कर चुके हैं। सोने के भावों में इतनी उथल-पुथल इससे पहले 2007, 2009 और 2012 में आई थी। लेकिन वर्तमान में आई तेजी के पीछे क्‍या कारण है बाजार के विश्‍लेषक Dr. Ravi Singh यहां बता रहे हैं। उस समय जो तेजी आई थी उसके कारण अलग थे। 2007 में लेमन ब्रदर्स का बैकरप्‍सी फाइल होने के बाद सोने के दामों में तेजी का रूख बना था। 2009 में यूरोपियन क्राइसिस बढ़ने से सोने के दाम 16 हजार तक पहुंच गए थे। 2012 में भी यूरोपियन क्राइसिस के चलते दाम 31 हजार तक पहुंच गए थे। आने वाले समय में ग्‍लोबल रिसेशन इसका कारण हो सकता है। इससे सोने में चमक बढ़ गई है। फिर भी दस वजहें ऐसी हैं जिनके कारण सोने के दाम बढ़ते रहेंगे। इसमें सबसे पहले है सेफ हैवन बाइन जब भी सोने में होगी, दाम बढ़ेंगे। जियो पॉलिटिकल टेंशन के चलते यह महंगा होगा। जब भी सोने के दाम गिरते हैं, सेंट्रल बैंक अमूमन खरीदी करते हैं, इस वजह से भी सोने के दाम में तेजी बनी रहती है।

चौथी वजह यह है कि घटती ब्‍याज दरें एक बड़ी भूमिका अदा करती है। ग्‍लोबल रिसेशन और क्रूड ऑयल के उतार और चढ़ाव अगर बहुत ज्‍यादा हेाते हैं तो भी सोने की मांग बढ़ जाती है। अगली वजह इक्विटी मार्केट में बड़ी गिरावट आना। यदि इस बाजार में बड़ी गिरावट आती है तो भी सोने की कीमत बढ़ जाती है। त्‍योहारी मांग के साथ ही यदि किसी देश ने अपने रिजर्व को सोने में बढ़ाया तो भी सोने के दामों में लंबी तेज़ी बनती है।

आने वाले समय में सोने के दाम 57 हजार के पार जा सकते हैं। चांदी के दाम 80 हजार तक पहुंचते नज़र आ सकते हैं। जिस प्रकार से कोरोना संकट चल रहा है, उसकी वजह से यूएसए स्‍कोप में भी सोने में तेजी बनी हुई है। और सेंट्रल बैंक भी यहां अपने सोने के रिजर्व को बढ़ा रहे हैं। इसी वजह से सोने के दामों में बड़ी तेजी का दौर चल रहा है और ये आने वाले समय में घटते नज़र नहीं आ रहे हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020