निर्पेन्द्र यादव/वरिष्ठ विश्लेषक/स्वास्तिका इवेस्टमार्ट

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक वैश्विक सोने की मांग में इस साल की पहली छमाही में गिरावट आई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि दूसरी तिमाही में कुल वैश्विक सोने की मांग 11 प्रतिशत साल-दर-साल गिरकर 1,015.7 मीट्रिक टन रही गई है, जो कि पिछले साल की पहली छमाही में 6 प्रतिशत से 2,076 मीट्रिक टन रही थी। हालांकि, एक निवेश के रूप में सोने की मांग रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई है क्योंकि एक्सचेंज-ट्रेडेड-फंड होल्डिंग जून के अंत तक अभी तक के उच्च स्तर पर पहुंच चुके हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि महामारी ने उपभोक्ताओं की मांग को कम कर दिया है, जबकि सोने मे निवेश के लिए सहायता प्रदान की है।

इस बीच दुनिया भर में बढ़ते कोरोनो वायरस के मामलों के साथ-साथ कमजोर कॉर्पोरेट कमाई के आंकड़े और यूरोप के आर्थिक आंकड़ों ने कीमती धातुओं को सपोर्ट किया है। अमेरिकी डॉलर दो साल के निचले स्तर पर गिर गया है और एक दशक में अपने सबसे खराब दौर से गुजर रहा है, जिससे अन्य मुद्राओं को रखने वाले निवेशकों के लिए बुलियन सस्ता हुआ है। अमेरिका मे दूसरी तिमाही में कम से कम 73 वर्षों में सबसे गहरे आर्थिक संकुचन को दर्शाने वाले अमेरिकी आंकड़ों के अलावा बेरोज़गारी के लाभ में वृद्धि से भी डॉलर को नुकसान हुआ है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 3 नवंबर को होने वाले चुनाव मे देरी करने का विचार भी कीमती धातुओं को सपोर्ट कर रहा है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020