Gold Rate: घरेलू सराफा बाजार के गोल्ड डीलरों को लगातार चौथे हफ्ते डिस्काउंट (कीमतों पर छूट) ऑफर करना पड़ा। वजह यह रही कि देश के ज्यादातर रिटेल ग्राहकों को सोना आकर्षित नहीं कर रहा है। भारत सोने का दूसरा सबसे बड़ा खरीदार है। इस मामले में पूरी दुनिया में केवल चीन भारत से आगे है। लेकिन श्राद्घ पक्ष शुरू होने की वजह से घरेलू बाजार में सोने की मांग और घट गई, जो पहले से ही कमजोर थी। 17 सितंबर तक जारी रहने वाली दो हफ्तों की इस अवधि में सोना अन्य संपत्तियां खरीदना अशुभ माना जाता है।

बहरहाल, शुक्रवार को वायदा बाजार में सोने की कीमत तकरीबन 51,445 रुपये प्रति 10 ग्राम रही। पिछले महीने वायदे में सोना 56,191 रुपये तक गया था। इस बीच सोने पर डिस्काउंट में कमी आई। 12.5 प्रतिशत आयात शुल्क और तीन प्रतिशत सेल्स टैक्स मिलाकर डिस्काउंट 30 डॉलर (करीब 2,203 रुपये) प्रति औंस (28.35 ग्राम) रह गया, जो पिछले हफ्ते 40 डॉलर (करीब 2,937 रुपये) प्रति औंस था।

हालांकि देश में अक्टूबर-नवंबर के बीच एक के बाद एक ढेर सारे त्योहार आते हैं और इस दौरान आम तौर पर सोने की मांग बढ़ती है, लेकिन इस साल हालात कुछ अलग हैं। कोविड-19 संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों की वजह से सेंटीमेंट खराब हो गया है। इसके अलावा वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के दौरान देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में भी तकरीबन एक चौथाई गिरावट आई है। इससे सोने की मांग प्रभावित हुई है। मुंबई स्थित सोने का आयात करने वाले एक बैंक के डीलर ने कहा, 'कीमतें ऊंची रहने की वजह से इस वर्ष त्योहारों के सीजन में भी सोने की मांग सामान्य से कम रहेगी।'

सिंगापुर में बिक्री चार हफ्तों के निचले स्तर पर

उधर सिंगापुर में हालात भारत के उलट हैं। वैश्विक हाजर बाजार में सोने की कीमत घटने के बाद वहां इसकी खरीदारी बढ़ी है। गोल्डसिल्वर के डीलर ब्रायन लैन कहा, 'जैसे-जैसे कीमतें नीचे आएंगी, हम खरीदारी में बढ़ोतरी देखेंगे।' उन्होंने कहा कि अब पहले से ज्यादा ग्राहक सोने के बारे में पूछताछ करने आ रहे हैं। लैन ने यह भी कहा कि रिटेल खरीदारी कमजोर है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की बेंचमार्क कीमतों पर प्रीमियम पिछले हफ्ते के समान ही 0.80-1.50 डॉलर प्रति औंस रहा। सिल्वर बुलियन के सेल्स मैनेजर विनसेंट टाई ने कहा, 'मोटे तौर पर बिक्री अच्छी कही जा सकती है, लेकिन यह पिछले चार हफ्तों के निचले स्तर पर है।'

चीन में भी मांग कमजोर

चीन में सोने पर भारत से ज्यादा 45-50 डॉलर प्रति औंस डिस्काउंट है। बावजूद इसके वहां सोने की मांग कमजोर बनी हुई है। पिछले हफ्ते वहां 56 डॉलर प्रति औंस डिस्काउंट ऑफर किया जा रहा था। हांगकांग स्थित रिफिनिटिव जीएफएमएस के कीमती धातु विश्लेषक सैमसन ली ने कहा कि चूंकि चौथी तिमाही में शादियों का सीजन शुरू हो जाएगा, लिहाजा सोने पर डिस्काउंट और कम हो सकता है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020