भारत की अर्थव्‍यवस्‍था के लिए यह अच्‍छी खबर है। चालू वर्ष के दूसरे क्‍वार्टर में भारत की जीडीपी 8.3% की दर से बढ़ रही है और पूरे साल में यह 9.4% आंकी गई है। यह अनुमान ICRA ने लगाया है। कुछ ही देर में आंकड़े सामने आने वाले हैं। ndia Ratings ने भी कहा था कि देश की अर्थव्यवस्था चालू वित्त वर्ष की दूसरी जुलाई-सितंबर तिमाही में 8.3 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी, जबकि पूरे वित्त वर्ष 2021-22 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 9.4 प्रतिशत रहेगी। प्रमुख रेटिंग एजेंसी इंडिया रेटिंग्स का यह अनुमान आम सहमति वाले वृद्धि दर के अनुमान से 0.1 प्रतिशत कम है। रेटिंग एजेंसी का कहना था कि कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर लगातार नौ तिमाहियों में तीन प्रतिशत से अधिक रही है। इसकी वजह से अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर ऊंची रहेगी। सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय ने मंगलवार को घोषणा की कि 2021-22 की दूसरी तिमाही में स्थिर कीमतों पर जीडीपी 35.73 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है, जबकि 2020-21 की दूसरी तिमाही में 32.97 करोड़ रुपये था, जो 2020 की दूसरी तिमाही में 7.4 प्रतिशत के मुकाबले 8.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। चालू वित्त वर्ष की समान पिछली तिमाही में 26.3 प्रतिशत के मुकाबले सरकारी पूंजीगत व्यय Q2 में 51.9 प्रतिशत बढ़ा और 24 राज्यों का कुल पूंजीगत व्यय Q2 में 62.2 प्रतिशत बढ़ा, जो Q1 में 98.4 प्रतिशत था।

Posted By:

  • Font Size
  • Close