कैश निकासी के मामले में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के 1 जुलाई से चार्जेज बढ़ाने के बाद अब ICICI Bank ने भी इसी नक्शे-कदम पर चलने का फैसला किया है। ICICI Bank ने अपने ग्राहकों को झटका देते हुए निकासी के मामले में कई नियमों में बदलाव किये हैं। मोटे तौर पर 1 अगस्त से ICICI Bank के एटीएम से पैसा निकालने पर ग्राहकों की जेब ढीली होनेवाली है। यहां तक कि चेकबुक से से कैश निकालना भी महंगा पड़ सकता है। अभी ICICI की ओर से अपने ग्राहकों को 4 फ्री ट्रांजेक्शन की सर्विस दी जाती है। उसके बाद पैसे निकालने पर आपको चार्ज देना होगा। तो चलिए आपको बताते हैं ICICI के ट्रांजेक्शन में 1 अगस्त से क्या बदलाव होने वाले हैं।

क्या कहते हैं नये नियम?

  • 1 अगस्त से ICICI Bank के ग्राहक अपनी होम ब्रांच से एक लाख रुपये तक प्रतिदिन निकाल सकते हैं। लेकिन इससे ज्यादा की निकासी करने पर 5 रुपये प्रति 1,000 देना होगा। यानी अगर आपको एक लाख और चाहिए, तो इसके लिए 500 रुपये बैंक को देने होंगे।
  • अगर होम ब्रांच के अलावा दूसरी ब्रांच से पैसा निकाला, तो प्रतिदिन 25,000 रुपये तक ही कैश निकासी कर सकते हैं। उसके बाद प्रति 1000 रुपये निकालने पर 5 रुपये देना होगा। यानी अगर आपको एक लाख रुपये निकालने हैं, तो 375 रुपये बैंक को देने होंगे।
  • चेकबुक से कैश निकालना भी आसान नहीं होगा। 25 पेज की चेकबुक फ्री होगी, लेकिन इसके बाद आपको प्रति 10 पन्नों की अतिरिक्त चेकबुक के लिए 20 रुपये देने होंगे।
  • नये नियमों के मुताबिक ATM ट्रांजेक्शन पर भी चार्ज लगेगा। इसमें एक महीने में 6 मेट्रो लोकेशन पर पहले 3 ट्रांजेक्शन फ्री होंगे, इसके अलावा बाकी सभी स्थानों पर 5 ट्रांजेक्शन फ्री होंगे। ध्यान रहे इसमें बैंकिंग और नॉन-बैंकिंग दोनों तरह के ट्रांजेक्शन शामिल हैं। यानी अगर आपकेे बैलेंस चेक किया, तो ये भी ट्रांजेक्शन में गिना जाएगा।
  • इसके बाद हर वित्तीय लेन-देन पर 20 रुपये और गैर-वित्तीय लेन-देन यानी पिन चेंज, बैलेंस चेक करना आदि के लिए 8.50 रुपये लगेंगे।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close