मध्य प्रदेश, 5 अगस्त 2022 : “लैब ग्रोन डायमंड एंड ज्वैलरी एग्जीबिशन" "एलडीजेएस 2022" के दूसरे संस्करण का उद्घाटन आज पूरे धूमधाम के साथ हुआ। यह आयोजन 5 से 8 अगस्त तक मुंबई के जियो वर्ल्ड कन्वेंशन सेंटर में जारी रहेगा। "लैब-ग्रोन डायमंड एंड ज्वैलरी प्रमोशन काउंसिल (एलजेडीजेपीसी)" द्वारा आयोजित, "एलडीजेएस 2022" भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय ज्वैलर्स के लिए भारत की सबसे बड़ी लैब ग्रोन डायमंड्स एंड ज्वैलरी प्रदर्शनी" है।5000 वर्ग मीटर में आयोजित, एलडीजेएस 2022 में 100 से अधिक प्रदर्शकों द्वारा आगंतुकों के लिए डायमंड एवं ज्वैलरी की अपनी विविध रेंज प्रदर्शित की जाएगी। इस प्रतिष्ठित एक्सपो में 45,000 से अधिक व्यापारिक आगंतुकों, खरीदारों और व्यापारी बिरादरी के सदस्यों और लगभग इतनी ही संख्या में देश-विदेश के सामान्य आगंतुकों के भाग लेने की उम्मीद है।

एलडीजेएस का पहला संस्करण बेहद सफल रहा था और यह नेस्को, मुंबई में 40,000 वर्ग फीट में आयोजित किया गया था। एलडीजेएस 2022 में 9 देश भाग लेंगे और 12 इंटरएक्टिव ट्रेड सेशन एवं 12 फैशन शो आयोजित होंगे। इसमें मॉडल रैंप वॉक करते हुए देश-विदेश के विभिन्न निर्माताओं और प्रदर्शकों के एलजीडीजेएस की श्रृंखला प्रदर्शित करेंगे। इसका उद्घाटन लैब ग्रोन डायमंड एंड ज्वैलरी प्रमोशन काउंसिल के चेयरपर्सन, शशिकांत दलीचंद शाह ने किया। रॉयल थाई कॉन्सुलेट, मुंबई के महावाणिज्यदूत, महामहिम, श्री डोनविट पूलसावत इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे, जबकि थाई ट्रेड सेंटर की वाणिज्यदूत, सुश्री सुपात्रा सवेंगसरी इस अवसर पर बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित थीं।

अन्य विशिष्ट अतिथियों के रूप में भारत शाह, प्रेसिडेंट - एमडीएमए, आशीष पेठे, चेयरमैन - जीजेसी, मेहुल शाह वीपी - बीडीबी, अतुल जोगानी, वीपी - टीजीटीए थाईलैंड, अशोक गजेरा, सीएमडी - लक्ष्मी डायमंड, प्रशांत मेहता, प्रेसिडेंट - जेएबी, चेतन मेहता, वीपी - आईबीजेए, घनश्याम ढोलकिया, एचके ग्रुप, पूर्व सांसद नरसिम्हन और कई अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। एलडीजेएस 2022 भारत डायमंड बोर्स, सूरत डायमंड बोर्स, मुंबई डायमंड मर्चेंट्स एसोसिएशन, द लैब – ग्रोन डायमंड एसोसिएशन - सूरत; और हीरा झवेरात (एचजेड) इंटरनेशनल द्वारा समर्थित है।

उद्घाटन के अवसर पर बोलते हुए, श्री शशिकांत दलीचंद शाह, प्रेसिडेंट, लैब ग्रोन डायमंड एंड ज्वैलरी प्रमोशन काउंसिल ने कहा, “आज इस प्रमुख प्रदर्शनी का उद्घाटन करते हुए हमें बेहद खुशी हो रही है। काउंसिल का यह निरंतर प्रयास रहा है कि न केवल एलजीडीजे को बढ़ावा मिले बल्कि मिथकों को भी स्पष्ट किया जाए, भारत और विदेशों में एलजीडीजे की विभिन्न विशेषताओं, फायदों और लाभ के बारे में व्यापारिक उपभोक्ताओं एवं लक्षित उपभोक्ताओं को जागरुक किया जाए और उन्हें जानकारी प्रदान की जाए। यह एक्सपो इन चमचमाते आभूषणों को तैयार करने में भारत के शिल्प कौशल, कारीगरी और कुशलता को दुनिया के सामने प्रदर्शित करेगा। भारत में इंडस्ट्री तेजी से बढ़ रही है और वह दिन दूर नहीं जब भारत वैश्विक स्तर पर एलजीडीजे के लिए सबसे बड़ा आउटसोर्सिंग केंद्र होगा।"

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close