India Export Import: बुधवार को जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार मई में देश का व्यापारिक निर्यात 20.55 प्रतिशत बढ़कर 38.94 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया। जबकि व्यापार घाटा रिकॉर्ड 24.29 बिलियन डॉलर हो गया। आंकड़ों से पता चलता है कि पिछले महीने आयात 62.83 प्रतिशत बढ़कर 63.22 अरब डॉलर हो गया। पिछले साल मई में व्यापार घाटा 6.53 अरब डॉलर था। अप्रैल-मई 2022-23 में संचयी निर्यात करीब 25 प्रतिशत बढ़कर 78.72 बिलियन अमरीकी डॉलर था। वहीं अप्रैल-मई 2022-23 में आयात 45.42 प्रतिशत बढ़कर 123.41 अरब डॉलर रहा।

वहीं चालू वित्त वर्ष के पहले दो माह के दौरान व्यापार घाटा बढ़कर 44.69 अरब डॉलर हो गया। एक साल पहले की समान अवधि में 21.82 अरब डॉलर था। मई 2022 के दौरान पेट्रोलियम और कच्चे तेल का आयात 102.72 प्रतिशत बढ़कर 19.2 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया।

मई 2021 में दो बिलियन अमरीकी डॉलर के मुकाबले कोयला, कोक और ब्रिकेट्स का आयात बढ़कर 5.5 बिलियन अमरीकी डॉलर रहा। सोना का आयात भी बढ़कर 6 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया, जो मई 2021 में 677 मिलियन यूएस डॉलर था।

इंजीनियरिंग सामान का निर्यात 12.65 प्रतिशत बढ़कर 9.7 अरब डॉलर रहा। पेट्रोलियम उत्पादों का निर्यात 60.87 प्रतिशत बढ़कर 8.54 अरब डॉलर रहा। रत्न और आभूषण का निर्यात मई में 3.22 अरब डॉलर रहा। जो पिछले साल इसी महीने में 2.96 अरब डॉलर था। रसायनों का निर्यात 17.35 प्रतिशत बढ़कर 2.5 अरब डॉलर रहा।

इसी तरह फार्मा और रेडीमेड गारमेंट्स की शिपमेंट 10.28 प्रतिशत और 27.85 प्रतिशत बढ़कर 2 बिलियन अमरीकी डॉलर व 1.41 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गई। नकारात्मक वृद्धि दर्ज करने वाले वैक्सपोर्ट क्षेत्रों में लौह अयस्क, काजू, हस्तशिल्प, प्लास्टिक, कालीन और मसाले शामिल हैं। वाणिज्य मंत्रालय ने कहा, मई के लिए सेवाओं के आयात का अनुमानित मूल्य 14.43 अरब यूएस डॉलर है। जो पिछले साल 9.95 अरब अमेरिकी डॉलर था। यह 45.01 प्रतिशत की सकारात्मक बढ़ोतरी दर्शाता है।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close