नई दिल्ली। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) अगले पांच-सात वर्षों में रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स उत्पादन क्षमता में विस्तार के लिए दो लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

IOC के चेयरमैन संजीव सिंह ने बताया कि देश की सबसे बड़ी तेल कंपनी अपनी अग्रणी स्थिति बनाए रखने के लिए यह निवेश करेगी।

यह है योजना

योजना के अनुसार कंपनी अपनी ऑयल रिफाइनिंग क्षमता को दोगुना कर प्रतिवर्ष 15 करोड़ टन तक बढ़ाएगी। इसके साथ ही तेल और गैस का रिटेल नेटवर्क और पेट्रोकेमिकल उत्पादन क्षमता का विस्तार कर अधिक कच्चे तेल और गैस का उत्पादन करेगी।

सालाना रिपोर्ट में यह बताया गया

- कंपनी की नवीनतम वार्षिक रिपोर्ट में बताया गया है कि इस निवेश के माध्यम से वह भविष्य के लिए तैयार होना चाहती है।

- वर्तमान में कंपनी 8.07 करोड़ टन रिफाइनिंग की क्षमता वाली देश की सबसे बड़ी तेल रिफाइनिंग कंपनी है। कंपनी अपनी यह स्थिति बनाए रखना चाहती है।

- इसके साथ ही कंपनी अपने पेट्रोकेमिकल उत्पादन क्षमता को वर्तमान के 31.5 लाख से बढ़ाकर 1.3 करोड़ टन तक करना चाहती है।