इंदौर (व्यापार प्रतिनिधि)। पाम तेल का आयात और स्थानीय प्लांटों में उत्पादन घटने के कारण खाद्य तेल के भाव फिर बढ़ने लगे हैं। राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बीच हाजर में माल की सप्लाई कमजोर होने से भी तेजी को सपोर्ट मिल रहा है। वायदे में ज्यादा तेजी देखी गई। पाम तेल के मलेशिया वायदे में मजबूती ने सोया और पाम तेल के हाजर और वायदा भाव को सपोर्ट किया। मई में सोयाबीन की क्रशिंग बढ़ने का अनुमान है, हालांकि मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में सोयाबीन की आवक कमजोर रहने की आशंका है। वजह यह है कि लॉकडाउन के कारण बंद मंडियां खुलने पर किसान खरीफ बिजाई की तैयारी में जुट जाएंगे।

अप्रैल में क्रशिंग घटी

अप्रैल में 3.5 लाख टन सोयाबीन की क्रशिंग की गई। इसके मुकाबले मार्च में 4.5 लाख टन और अप्रैल 2019 में 6.5 लाख टन सोयाबीन की क्रशिंग की गई थी। मई 2020 में सोया क्रशिंग 5.5-6 लाख टन तक पहुंचने का अनुमान है।

इंदौर में ये हैं भाव

सोयाबीन रिफाइन 800, नीमच 790, मुंबई 800 से 805, मुंबई मुमफली 1380, कॉटन 805 से 810, गुजरात तेलिया 2125, मुमफली लूज 1350, कॉटन वाश 773 और सोयाबीन रिफाइन 775 रुपये। मध्य प्रदेश सोयाबीन प्लांट डिलीवरी आर एच 4000, प्रकाश 3980, कीर्ति 3975, महाकाली 3975, प्रेस्टीज 3950, इटारसी आयल 3900, धानुका 3960, रूचि सोया 3980, अवि एग्रो 3950, विप्पी 3825 और खंडवा ऑयल 3825 रुपये।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना