मुंबई। पहले से ही आर्थिक संकट से जूझ रही जेट एयरवेज अब एक और बड़ी मुश्किल में फंस गई है। इंडियन ऑइल कॉर्पोरेशन(IOC) ने जेट एयरवेज को बकाया ना चुकाने की वजह से शुक्रवार से फ्यूल की सप्लाई बंद कर दी है। इससे अब जेट की फ्लाइट्स पर और संकट गहरा गया है। पीटीआई के मुताबिक सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी इंडियन ऑइल ने शुक्रवार दोपहर 12 बजे से सप्लाई को बंद कर दिया है।

आर्थिक तंगी से गुजर रही जेट एयरवेज के प्रमोटर्स ने हाल ही में बोर्ड से इस्तीफा दिया है, जिसके बाद एसबीआई लेड कंसोर्टियम द्वारा मैनेजमेंट की कमान संभाली जा रही है। 25 मार्च को जेट एयरवेज बोर्ड ने जेट एयरवेज का नया प्लान अप्रूव किया है। इसके साथ ही घरेलू ऋणदाता भी एयरलाइन को 1500 करोड़ की इमरजेंसी फंडिंग देने पर राजी हो गए हैं। बावजूद इसके एयरलाइन को अब तक ज़रुरी फंड नहीं मिल सका है।

जेट पर करीब 8,200 करोड़ का कर्ज है। मार्च के अंत तक उसे 1,700 करोड़ की देनदारियां चुकानी है। यदि जेट एयरवेज बंद होती है तो करीब 2,300 लोगों की नौकरी चली जाएगी।

जेट एयरवेज पिछले कुछ वक्त से बड़ी आर्थिक तंगी से गुजर रही है। यही वजह है कि पिछले कुछ वक्त से कंपनी को अपनी कई फ्लाइट्स रद्द करनी पड़ी है। यहां तक कंपनी की गिरती माली हालत के मद्देनजर सरकार को भी इसमें हस्तक्षेप करना पड़ा है। कंपनी के बोर्ड से मुख्य मुख्य प्रमोटर नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनिता गोयल ने इस्तीफा दे चुके हैं।