Monetary Policy Committee: आरबीआई गवर्नर शक्तिकांस दास ने कहा कि निरंतर उच्च मुद्रास्फीति अर्थव्यवस्था के लिए प्रमुख चिंता का विषय है। यहां तक कि आर्थिक गतिविधियों में तेजी आ रही है। इस महीने की शुरुआत में कीमतों में वृद्धि की जांच के लिए प्रमुख ब्याज दर में 50 आधार अंकों की वृद्धि के लिए मतदान किया जा रहा है। केंद्रीय बैंक ने बुधवार को बैठक जारी की। दास की अध्यक्षता वाली छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति ने 8 जून को अपने फैसले का ऐलान किया था। यह रेपो रेट में लगातार दूसरी बढ़ोतरी थी।

उच्च मुद्रास्फीति चिंता का विषय

गवर्नर शक्तिकांस दास ने कहा कि उच्च मुद्रास्फीति प्रमुख चिंता का विषय बनी हुई है। आर्थिक गतिविधियों का पुनरुद्धार स्थिर बना हुआ है। मुद्रास्फीति की उम्मीदरों से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए नीतिगत दर में और वृद्धि करने के लिए समय उपयुक्त है।

रेपो रेट में बढ़ोतरी का समर्थन

उन्होंने कहा, 'मैं रेपो रेट में 50 बीपीएस की बढ़ोतरी के लिए वोटिंग करता हूं, जो विकसित मुद्रास्फीति विकास की गतिशीलता के अनुरूप होगा।' दास ने कहा कि प्रतिकूल आपूर्ति झटके के दूसरे दौर के प्रभावों को कम करने में मदद करेगा। उन्होंने कहा, 'दर वृद्धि मूल्य स्थिरता के प्रति आरबीआई की प्रतिबद्धता को मजबूत करेगी।' बता दें सभी छह सदस्यों ने पॉलिसी रेपो दर को 50 आधार अंक (बीपीएस) बढ़ाकर 4.9 फीसदी करने के लिए मतदान किया था।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close