मशहूर डिजिटल पेमेंट ऐप Paytm के लिए आज एक बड़ी सफलता का दिन है। बाजार नियामक सेबी ने पेटीएम को 16,600 करोड़ रुपये का आइपीओ जारी करने की मंजूरी प्रदान कर दी। इसमें से 8300 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे जबकि 8300 करोड़ रुपए आफर फार सेल के जरिये जारी किए जाएंगे। यह भारत के इतिहास का अब तक का सबसे बड़ा आइपीओ होगा। इससे पहले सरकारी कंपनी कोल इंडिया 15 हजार करोड़ का आइपीओ लेकर आई थी। माना जा रहा है कि कंपनी इस नवंबर के महीने में अपने शेयर को पूंजी बाजार में सूचीबद्ध करा सकती है। न्यूयार्क विश्वविद्यालय स्थित स्टर्न स्कूल आफ बिजनेस में फाइनेंस के विशेषज्ञ अश्वथ दामोदरन के मुताबिक कंपनी के गैर सूचीबद्ध एक शेयर का मूल्य 2,950 रुपये है। पेटीएम में दुनिया के दिग्गज निवेशकों ने भरोसा जताया है। चीन के अरबपति कारोबारी जैक मा की कंपनी एंट फाइनेंशियल ने इसमें भारी भरकम निवेश किया है। इसके अलावा अलीबाबा सिंगापुर, साफ्टबैंक विजन फंड और बीएच इंटरनेशनल होल्डिंग्स ने भी निवेश कर रखा है।

जानिये पेटीएम का अब तक का सफर

2010 में कंपनी ने मोबाइल रिचाजिर्ग सर्विस की शुरुआत की थी। उसके बाद से कंपनी ने लगातार अपनी सर्विस के दायरे का विस्तार किया और वर्तमान में पेटीएम एप की मदद से होटल बुकिंग, ट्रेन-प्लेन का टिकट समेत कई काम किए जा रहे हैं। कंपनी के प्रदर्शन पर गौर करें तो वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनी का कुल राजस्व 3186 करोड़ रहा था। उससे पिछले वित्त वर्ष यानी 2019-20 में कंपनी का कुल राजस्व 3540 करोड़ रुपये था। कंपनी ने अपने नुकसान को काफी कम किया है। वित्त वर्ष 2021 में कंपनी का कुल नुकसान घटकर 1701 करोड़ रहा, जो उससे पिछले वित्त वर्ष में 2942 करोड़ रुपये रहा था।

Posted By: Navodit Saktawat