एक दृश्य की कल्पना कीजिये। आने वाली 30 जून की सुबह आप पेट्रोल पंप पर जाएं। वहां आप 100 रुपये का पेट्रोल लेते हैं लेकिन मशीन में खते हैं कि सेल्समैन ने डेढ़ लीटर पेट्रोल भरा है। आप सेल्समैन को गलती बताते हैं, लेकिन वह कहता है कि अभी से यही रेट है। उस वक्त आपके चेहरे पर आई खुशी की कल्पना कोई नहीं कर सकता। यह दृश्य महज कल्पना नहीं है, बल्कि ऐसा होने की संभावना है। भारत में जीएसटी लागू हुए पांच साल हो गए हैं। 28 और 29 जून को चंडीगढ़ में जीएसटी काउंसिल की बैठक है। इस बैठक में कई बड़े फैसले लिए जा सकते हैं। यदि सब कुछ ठीक रहा तो पेट्रोल की कीमत 30% तक कम होने की संभावना है। इतना ही नहीं, अगले 2 दिनों में शराब 17% सस्ती हो सकती है। यह बैठक महत्वपूर्ण है क्योंकि यह छह महीने के अंतराल के बाद आयोजित की जा रही है। जीएसटी परिषद की आखिरी बैठक नवंबर 2021 में हुई थी।

जीएसटी परिषद अपनी दो दिवसीय बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा करने के लिए तैयार है, जिसमें राज्यों को राजस्व नुकसान की भरपाई के लिए एक तंत्र, कुछ वस्तुओं में कर की दर में बदलाव और छोटे ऑनलाइन आपूर्तिकर्ताओं के लिए पंजीकरण मानदंडों में ढील शामिल है।

इसके अलावा केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में और राज्य के समकक्षों को शामिल करने वाली परिषद, ऑनलाइन गेम, कैसीनो और घुड़दौड़ पर 28 प्रतिशत का उच्चतम कर लगाने के अलावा, उच्च जोखिम पर एक जीओएम की एक रिपोर्ट पर चर्चा करेगी।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close