मुंबई। भाजपा के पूर्व सांसद तथा संकटग्रस्त पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक के जमाकर्ताओं ने बैंक और एचडीआईएल के अधिकारियों के खिलाफ गुरुवार को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। इसमें इन अधिकारियों पर कथित तौर पर तीन हजार करोड़ रुपए की लूट करने का आरोप लगाया गया है।

सोमैया ने मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) पहुंच कर अपनी लिखित शिकायत में आरोप लगाया है कि पीएमसी बैंक के शीर्ष प्रबंधन तथा रियल एस्टेट फर्म एचडीआईएल ने 9.12 लाख जमाकर्ताओं के पैसों की लूट की है।

ईओडब्ल्यू दफ्तर के बाहर पत्रकारों से बातचीत में सोमैया ने कहा कि पीएमसी बैंक प्रबंधन और एचडीआईएल के मालिक ने सांठगांठ करके जमाकर्ताओं के पैसों की लूट की है। उन्होंने इस मामले में उचित जांच की मांग की।

उन्होंने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के प्रशासक को पीएमसी बैंक तथा एचडीआईएल के संबंधित अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज कराना चाहिए। मालूम हो कि रिजर्व बैंक ने पीएमसी बैंक पर संचालन संबंधी कई पाबंदियां लगाई हैं।

इसके तहत प्रति खाता रकम निकासी की अधिकतम सीमा एक हजार रुपए तथा कोई नया कर्ज नहीं देने के निर्देश दिए गए हैं। बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, इसे साल 2000 में शेड्यूल्ड बैंक का दर्जा मिला तथा उसकी शाखाएं कई राज्यों में हैं।

सोमैया ने एचडीआईएल के साथ बैंक की लेनदेन की फोरेंसिक ऑडिट की भी मांग की। उन्होंने आरोप लगाया कि 'आठ हजार करोड़ रुपए के लोन में तीन हजार करोड़ रुपए एचडीआईएल तथा ग्रुप की बेनामी कंपनियों को दिए गए। एचडीआईएल के डिफॉल्ट करने के बावजूद बैंक ने उसे बिना उचित दस्तावेज के सैकड़ों करोड़ रुपए दिए।'

उन्होंने कहा कि बैंक प्रबंधन तथा एचडीआईएल के मालिक के खिलाफ धोखाधड़ी तथा फर्जीवाड़ा का केस दर्ज कर उसकी विस्तृत जांच होनी चाहिए। हालांकि जांच के दौरान बैंक को बचाए रखने की हर कोशिश होनी चाहिए।

इसके पहले बैंक के खाताधारकों ने भी मध्य मुंबई स्थित सायन पुलिस थाने में जाकर बैंक के चेयरमैन तथा सभी निदेशकों के खिलाफ शिकायत सौंपी। शिकायत में इन अधिकारियों पर जमाकर्ताओं के पैसों का गबन करने का आरोप लगाया गया है।

उन्होंने शिकायत में नामित लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने तथा उनके पासपोर्ट जब्त करने की मांग की है। बैंक की सायन शाखा के बाहर भी करीब 50 ग्राहकों ने इकट्ठा होकर अपने पैसे वापस दिए जाने और बैंक के शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

Posted By: Nai Dunia News Network