नई दिल्ली। भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) ने सुरक्षित निकासी योग्य गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर (एनसीडी) खरीदकर पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में 2,500 करोड़ रुपए का निवेश किया है। पंजाब नेशनल बैंक की हाउसिंग फाइनेंस यूनिट ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने कहा कि ये डिबेंचर निजी आवंटन के आधार पर जारी किए गए और इनकी परिपक्वता अवधि 10 साल की है। कंपनी के मुताबिक जुटाई गई रकम का इस्मेताल सामान्य कारोबारी परिचालन में किया जाएगा। कंपनी के प्रबंध निदेशक संजय गुप्ता ने कहा, 'यह 2019-20 में कंपनी की तरफ से जारी एनसीडी की दूसरी खेप है।

पहली खेप में एक विदेशी बैंक से 500 करोड़ रुपए मिले थे। इस बार एलआईसी ने 2,500 करोड़ रुपए के एनसीडी खरीदे हैं। गुप्ता ने कहा कि इससे कंपनी में नकदी की स्थिति सुधरेगी और संपत्ति देनदारी प्रबंधन मजबूत होगा। कंपनी की तरफ से कहा गया कि उसने लंबी अवधि के स्रोतों से चालू वित्त वर्ष में अब तक करीब 27 हजार करोड़ रुपए जुटाए हैं। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने गुरुवार को कहा कि एलआईसी ने कंपनी में अपने सुरक्षित रेडीवेबल गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर (एनसीडी) की सदस्यता लेकर 2,500 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

यह भी पढ़ें : PMC Bank : पीएमसी बैंक की स्थिति पर नजर, फॉरेंसिक ऑडिट जारी

यह दूसरा एनसीडी है

"यह कंपनी द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए जारी किया गया दूसरा एनसीडी है, जिसके बाद पहली बार 500 करोड़ रुपये की विदेशी बैंक द्वारा सदस्यता ली गई थी। 2,500 करोड़ रुपये के इस निर्गम को भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा सदस्यता दी गई है,"

संजय गुप्ता, प्रबंध निदेशक, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket