अगर आप भी पुराने नोटों और सिक्कों के जरिए लखपति बनने का सपना पाल रहे हैं, तो थोड़ा सावधान हो जाएं। क्योंकि इस खेल में अब कई फर्जी खिलाड़ी भी शामिल हो गये हैं, जो आपकी चाहत का फायदा उठाकर आपका नुकसान कर सकते हैं। इस बारे में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने भी लोगों को आगाह किया है। RBI ने अधिसूचना जारी कर लोगों को चेतावनी दी है कि वह पुराने नोटों और सिक्कों को खरीदने या बेचने के फर्जी झांसे में न आएं।रिजर्व बैंक ने कहा कि लोगों पुराने नोट या सिक्के ऑनलाइन या ऑफलाइन बेचने के लिए RBI के नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं, और कई मामलों में इसके लिए फीस या कमीशन मांग रहे हैं। RBI ने स्पष्ट किया कि उनकी ओर से पुराने नोटों-सिक्कों की खरीद-बिक्री की कोई स्कीम नहीं चलाई जा रही है, और ना ही इसके लिए कोई फीस तय की गई है।

RBI ने कहा है कि उनके संज्ञान में यह बात सामने आई है कि कुछ तत्व गलत तरीके से भारतीय रिजर्व बैंक के नाम और लोगो का इस्तेमाल कर रहे हैं और विभिन्न ऑनलाइन, ऑफलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए पुराने बैंक नोट और सिक्कों को बेचने के लिए लोगों से शुल्क, कमीशन या टैक्स मांग रहे हैं। रिजर्व बैंक ने अपने बयान में कहा है कि RBI इस तरह की किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं है और इस तरह के ट्रांजैक्शन के लिए किसी से कोई शुल्क या कमीशन नहीं मांगता है। RBI ने कहा कि उसने किसी भी व्यक्ति या संस्था को भी इस तरह का कोई अधिकार नहीं दिया है। RBI ने कहा कि वह पुराने नोट या सिक्के बेचने जैसी कोई भी डील में शामिल नहीं है और RBI के किसी सदस्य, कर्मचारी, कंपनी या संस्था को इस तरह की ट्रांजेक्शन की अथॉरिटी नहीं दी है। भारतीय रिजर्व बैंक आम लोगों से इस तरह के जाली और धोखाधड़ी वाले ऑफर्स के झांसे में नहीं आने की सलाह देता है।

Posted By: Shailendra Kumar