डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड धारक ध्यान दें। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मंगलवार को क्रेडिट कार्ड जारी करने से संबंधित नए दिशानिर्देशों को लागू करने की समय सीमा 1 अक्टूबर तक बढ़ा दी है। इससे पहले RBI ने 1 जुलाई की समय सीमा निर्धारित की थी। आरबीआई ने कई अहम बदलावों की डेडलाइन भी बढ़ा दी है। आरबीआई के अपडेट के अनुसार, यदि ग्राहक जारी होने के 30 दिनों के भीतर क्रेडिट कार्ड को सक्रिय नहीं करता है, तो बैंकों या कार्ड जारीकर्ताओं को कार्ड को सक्रिय करने के लिए उपयोगकर्ता से वन-टाइम पासवर्ड लेना होगा। और यदि ग्राहक कार्ड को सक्रिय करने के लिए सहमति प्रदान नहीं करता है, तो जारीकर्ता को बिना किसी अतिरिक्त लागत के सात कार्य दिवसों के भीतर कार्ड को बंद कर देना चाहिए।

लिमिट बढ़ाने से पहले स्‍पष्‍ट सहमति मांगना होगी

आरबीआई ने कहा कि क्रेडिट कार्ड पर क्रेडिट लिमिट बढ़ाने से पहले कार्ड जारी करने वालों को स्पष्ट सहमति मांगनी चाहिए। आरबीआई ने उल्लेख किया, "कार्ड-जारीकर्ता यह सुनिश्चित करेंगे कि कार्डधारक से स्पष्ट सहमति प्राप्त किए बिना कार्डधारक को स्वीकृत और सलाह दी गई क्रेडिट सीमा का उल्लंघन किसी भी समय नहीं किया गया है। आरबीआई ने 21 जून को एक बयान में कहा, "मास्टर निर्देश के निम्नलिखित प्रावधानों के कार्यान्वयन के लिए समय सीमा को 01 अक्टूबर, 2022 तक बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।

बकाया भुगतान के लिए बनेंगे नियम

आरबीआई ने आगे कहा कि क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि के भुगतान के लिए नियम और शर्तें निर्धारित की जाएंगी। नियामक ने कहा, "अवैतनिक शुल्क / लेवी / करों को ब्याज की वसूली / चक्रवृद्धि के लिए पूंजीकृत नहीं किया जाएगा। आरबीआई ने कहा, "मास्टर निर्देश के बाकी प्रावधानों के कार्यान्वयन के लिए निर्धारित समयसीमा अपरिवर्तित बनी हुई है।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close