अमेरिका की भुगतान कार्ड सेवा प्रदाता कंपनी मास्टरकार्ड को RBI ने बड़ी राहत दी है। RBI ने मास्टरकार्ड पर नए ग्राहक जोड़ने को लेकर लगे प्रतिबंध को हटा दिया है। इस कदम से मास्टरकार्ड को नए ग्राहक जोड़ने में मदद मिलेगी। भारत के रूपे कार्ड से मास्टरकार्ड और वीजा जैसी कंपनियों को कड़ी टक्कर मिल रही है।मास्टरकार्ड एशिया/पैसिफिक पीटीई लिमिटेड को अपने नेटवर्क पर नए घरेलू ग्राहकों को शामिल करने से रोकने के लगभग एक साल बाद, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गुरुवार को वैश्विक कार्ड पर लगाए गए व्यापारिक प्रतिबंधों को "तत्काल प्रभाव से" हटा लिया।

आरबीआई ने पहले मास्टरकार्ड को स्थानीय डेटा स्‍टोरेज दिशा-निर्देशों का पालन न करने पर अपने नेटवर्क पर नए घरेलू ग्राहकों को शामिल करने से रोक दिया था। इस कदम ने मास्टरकार्ड को इन आधारों पर प्रतिबंधित होने वाली तीसरी इकाई बना दिया, जब आरबीआई ने अप्रैल में अमेरिकन एक्सप्रेस और डाइनर्स क्लब इंटरनेशनल को नए घरेलू ग्राहक नहीं लेने के लिए कहा था।

आरबीआई ने एक बयान में कहा, मास्टरकार्ड एशिया / पैसिफिक पीटीई लिमिटेड द्वारा भुगतान प्रणाली डेटा के भंडारण पर 6 अप्रैल, 2018 के भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के परिपत्र के साथ प्रदर्शित संतोषजनक अनुपालन के मद्देनजर, 14 जुलाई, 2021 के आदेश के तहत लगाए गए प्रतिबंध, नए घरेलू ग्राहकों के ऑन-बोर्डिंग को तत्काल प्रभाव से हटा लिया गया है।

इसलिए लगाया था प्रतिबंध

पिछले साल जुलाई में आरबीआई द्वारा मास्टरकार्ड पर नए घरेलू ग्राहकों (डेबिट, क्रेडिट या प्रीपेड) से भुगतान प्रणाली डेटा के भंडारण पर आरबीआई के परिपत्र का अनुपालन न करने के लिए अपने कार्ड नेटवर्क पर ऑन-बोर्डिंग से प्रतिबंध लगाए गए थे। केंद्रीय बैंक ने जुलाई 2021 में भुगतान डेटा के भंडारण से संबंधित मानदंडों का पालन करने में विफल रहने के लिए मास्टरकार्ड पर प्रतिबंध लगाया था। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने गुरुवार को कहा कि उसने मास्टरकार्ड इंक पर लगाए गए व्यावसायिक प्रतिबंधों को तत्काल प्रभाव से हटा लिया है।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close