नई दिल्ली। जुलाई में औद्योगिक उत्पादन की वृद्घि दर (आईआईपी) 4.3 प्रतिशत के स्तर पर पहुंच गई, जो जून में महज 2 प्रतिशत थी। आर्थिक सुस्ती के मौजूदा दौर में सरकार के लिए यह बड़ी राहत की बात है।

औद्योगिक क्षेत्र वृद्घि दर (प्रतिशत में)

जून जुलाई

मैन्युफैक्चरिंग 1.2 4.2

माइनिंग 1.6 4.9

बिजली 8.2 4.8

पूंजीगत सामान -6.5 -7.1

प्राइमरी गुड्स 0.5 3.5

इंटरमीडिएट गुड्स 12.4 13.9

कंज्यूमर ड्यूरेबल्स -5.5 -2.7

गैर उपभोक्ता सामान 7.8 8.3

Posted By: Navodit Saktawat