मुंबई। RBI द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक इस वर्ष 31 मार्च तक भारत के सरकारी और निजी बैंकों में कुल सेविंग डिपॉजिट 39.72 लाख करोड़ रुपये था।

इसके अलावा भारत में कार्यरत विदेशी बैंकों का सेविंग डिपॉजिट 58,630 करोड़ रुपये था। वित्त वर्ष 2018-19 में भारतीय और विदेशी बैंकों का कुल सेविंग डिपॉजिट 40.41 लाख करोड़ रुपये रहा। इससे पहले वित्त वर्ष 2017-18 में यह 36.55 लाख करोड़ रुपये रहा था।

ऐसे समझें इस ग्रोथ को

आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में सरकारी बैंकों की क्रेडिट ग्र्रोथ 8.7 परसेंट रही, जबकि कुल डिपॉजिट ग्र्रोथ 6.7 परसेंट रही। वहीं विदेशी बैंकों की क्रेडिट ग्र्रोथ 5.4 परसेंट रही, जबकि इनकी डिपॉजिट ग्र्रोथ 19.3 परसेंट रही।

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कुल डिपॉजिट में 10.1 परसेंट की वृद्धि हुई, जबकि पिछले साल की इसी तिमाही में यह सात परसेंट रही थी। वित्त वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही के बाद यह सबसे तेज वृद्धि है।

उस दौरान डिपॉजिट में 12.6 परसेंट की वृद्धि हुई थी। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में क्रेडिट में 11.7 परसेंट की दर से वृद्धि हुई, जबकि बीते साल इसी तिमाही में यह 11.1 परसेंट की दर बढ़ा था।

Posted By: Navodit Saktawat