स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) कभी अपने ग्राहकों को फायदा पहुंचाता है तो कभी उसकी जेब का बोझ। ऐसा ही कुछ अब हुआ है जिसमें बैंक के एक कदम के बाद इसके ग्राहकों की जेब पर बोझ बढ़ने वाला है। दरअसल, SBI ने अपने ग्राहकों के लॉकर्स की फीस बढ़ा दी है। बैंक ने छोटे और बड़े लॉकर्स के अनुसार फीस में बढ़ोतरी की है जो कि 31 मार्च से लागू होने वाली है। यह बढ़ोतरी कम से कम 500 रुपए की होगी। इसके बाद उन लोगों पर ज्यादा बोझ बढ़ेगा जो बैंक में बड़े लॉकर्स ऑपरेट करते हैं।

जानकारी के अनुसार, बैंक ने छोटे, मध्यम और बड़े आकार के सभी लॉकर्स की फीस में बढ़ोतरी की है। वहीं एक्स्ट्रा लार्ज लॉकर के लिए आपको 9000 रुपए के मुकाबले अब 12,000 रुपए देने होंगे। लॉकर्स की फीस में यह बढ़ोतरी शहर और ग्रामीण इलाके के साथ ही लॉकर के साइज के अनुसार रहेगी। बैंक ने मेट्रो शहरों में लॉकर्स पर 500 से 2000 रुपए तक बढ़ा दिए हैं। वहीं एक्स्ट्र लार्ज लॉकर पर बैंक 2000 से 8000 रुपए तक ज्यादा चार्ज करेगी। बैंक ने सेमी-अर्बन और ग्रामीण इलाकों में भी लॉकर्स के चार्ज 1000 रुपए से 6000 रुपए तक बढ़ा दिए हैं।

बैंक के मिडियम साइज के लॉकर्स पर 1000-4000 रुपए तक बढ़ाए गए हैं वहीं बड़े साइज के लॉकर्स पर 2000-8000 रुपए तक बढ़ाए गए हैं। यह चार्जेस मेट्रो और नगरीय इलाकों में लागू होंगे और इनमें जीएसटी नहीं जोड़ा गया है। SBI ग्रामीण और सेमी अर्बन शाखाओं में लॉकर्स को कम चार्जेस पर ऑफर करती है जो 1500 से 9000 रुपए तक के चार्ज पर मिलते हैं।

इसके अलावा बैंक ने वन टाइम लॉकर रजिस्ट्रेशन फीस लागू की है जो 500 रुपए होगी और इस पर जीएसटी अलग से देना होगा। वहीं बड़े और एस्ट्रा लार्ड लॉकर के लिए ग्राहकों को रजिस्ट्रेशन फीस के रूप में 1000 रुपए देने होंगे। इस सब के अलावा लॉकर का किराया देने में देरी होने पर बैंक आप पर पेनल्टी भी लगाए जो कि 40 प्रतिशत तक हो सकती है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

fantasy cricket
fantasy cricket