टाट ग्रुप 5G की दुनिया में उतरने की तैयारी में है। रियायंल जियो पहले भी अपना मेगा प्लान बता चुका है। अब इस रेस में टाटा समूह भी शामिल हो गया है। कंपनी ने टेलिकॉम इक्विपमेंट मेकर तेजस नेटवर्क में हिस्सेदारी खरीदने की घोषणा की है। इस डील से टाटा की 5जी की क्रांति में दाखिला होगा। इससे पहले मुकेश अंबानी ने रिलायंस की 44वीं वार्षिक जनरल बैठक में कहा था कि वे देश को 2जी से मुक्त करेंगे। उन्होंने भरोसा जताया था कि भारत में 5जी की शुरुआत रिलायंस जियो करेगी। अंबानी ने कहा था, 'जियो ने सफलतापूर्वक हाई स्पीड पाई है।' दिल्ली, मुंबई कई मेट्रो शहरों में इसका परीक्षण चल रहा है। उन्होंने कहा कि जैसे ही भारत में 5जी तकनीक सफस होगी। उसे अन्य देशों में निर्यात किया जाएगा।

43.35 फीसद हिस्सेदारी खरीदेगी टाटा संस

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार टाटा संस ने तेजस नेटवर्क में 43.35 फीसद हिस्सेदारी खरीदने वाली है। इस डील को लेकर तेजस नेटवर्क ने कहा कि कंपनी पैनाटोन के आधार पर 258 रुपए प्रति शेयर की दर से 1.94 करोड़ इक्विटी शेयर जारी करेगा। जिसकी कीमत 500 करोड़ रुपए होगी। कंपनी ने कहा कि इसके अलावा 3.68 करोड़ वारंटों का अन्य तरजीही आवंटन होगा। जिनमें 258 रुपए प्रति इक्विटी शेयर की दर से अन्य शेयरों में बदला जा सकता है।

स्ट्रैटिजिटक पार्टनरशिप की घोषणा

कंपनी ने कहा कि पैनाटोन मैनेजमेंट में तेजस नेटवर्क के 13 लाख इक्विटी शेयरों का अधिग्रहण करेगा। जिसकी दर 258 रुपए प्रति इक्विटी शेयर से ज्यादा नहीं होगी। कुछ वर्षों में डील पूरी होते ही तेजस नेटवर्क में टाट संस की हिस्सेदारी 72 फीसद तक हो जाएगी। पिछले महीने भारती एयरटेल और और टाटा ग्रुप की कंपनी टीसीएस ने मिलकर भारत में 5जी नेटवर्किंग के लिए स्ट्रैटिजिटक पार्टनरशिप की घोषणा की थी। एयरटेल 2022 तक 5जी के लिए पायलट प्रोजेक्ट पर काम शुरू करेगा। इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक तेजस और टाट संस ने पीएलआई स्कीम के तहत इंसेंटिव को लेकर आवेदन किया है।

Posted By: Shailendra Kumar