अंबिकापुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कार्यपालन अभियंता जल संसाधन संभाग क्रमांक दो रामानुजगंज को राज्य सूचना आयोग ने सूचना का अधिकार के तहत अधिवक्ता एवं आरटीआइ कार्यकर्ता डीके सोनी द्वारा मांगी गई जानकारी समय पर नहीं देने पर 50 हजार रुपये अर्थदंड से अधिरोपित किया है। आयोग ने अर्थदंड की राशि जन सूचना अधिकारी कार्यपालन अभियंता के वेतन से कटौती कर जमा करने के निर्देश अधीक्षण अभियंता श्याम बरनई परियोजना मंडल अंबिकापुर को दिया है।

अधिवक्ता एवं आरटीआइ कार्यकर्ता डीके सोनी ने सूचना के अधिकार के तहत कार्यालय कार्यपालन अभियंता जल संसाधन संभाग क्रमांक दो रामानुजगंज से कन्हर नदी एनीकट निर्माण एवं सूर्या ब्रदर्स को माह सितंबर से दिसंबर 2013 तक की गई राशि भुगतान के संबंध में जानकारी की मांग आठ अक्टूबर 2014 एवं 10 अप्रैल 2014 को की थी। समयावधि में वांछित जानकारी प्राप्त नहीं होने पर डीके सोनी द्वारा प्रथम अपील 18 नवंबर 2014 एवं 12 मई 2014 को प्रथम अपीलीय अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत किया गया था। प्रथम अपीलीय अधिकारी द्वारा 28 नवंबर 2014 एवं नौ जून 2014 को आदेश पारित करते हुए जानकारी निःशुल्क प्रदान करने कहा गया, इसके उपरांत भी जानकारी प्रदान नहीं करने पर अधिवक्ता ने 31 जनवरी 2015 एवं पांच जुलाई 2014 को धारा 18 के तहत राज्य सूचना आयोग में शिकायत प्रकरण अलग-अलग प्रस्तुत किया। शिकायत को राज्य सूचना आयोग ने पंजीबद्ध करते हुए जन सूचना अधिकारी, कार्यपालन अभियंता जल संसाधन संभाग क्रमांक दो रामानुजगंज को नोटिस जारी किया गया तथा तात्कालिक जन सूचना अधिकारी एनसी सिंह से जवाब मंगाया। इसकी विधिवत सुनवाई करते हुए पांच एवं नौ अप्रैल 2021 को आदेश पारित कर राज्य सूचना आयोग के सूचना आयुक्त मनोज त्रिवेदी द्वारा एनसी सिंह तत्कालीन जनसूचना अधिकारी, कार्यालय कार्यपालन अभियंता जल संसाधन विभाग क्रमांक दो रामानुजगंज को 25-25 हजार रुपये, कुल 50 हजार रुपये का अर्थदंड धारा 20(1) के तहत अधिरोपित किया गया। आयोग ने कार्यालय अधीक्षण अभियंता श्याम बरनई परियोजना मंडल अंबिकापुर जिला सरगुजा एवं अधीक्षण अभियंता जल संसाधन विभाग जिला सरगुजा को इनके वेतन से उक्त राशि शासन के खाते में जमा कर राज्य सूचना आयोग में पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करने का आदेश दिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local